शुरुआत Shuruwat Hindi Lyrics – Ikka

Shuruwat hindi lyrics


Shuruwat Hindi Lyrics sung and written by Ikka and composed by DJ Harpz. Starring Ikka Singh.

Song Title: Shuruwat
Singer: Ikka
Lyrics: Ikka
Music: DJ Harpz
Music Label: T-Series

Shuruwat Hindi Lyrics

पैसा शोहरत, ये दोनों मुसीबत
ये ना सब की किस्मत
ये बस उस की किस्मत
जिसने की है ज़हमत
उसपे रब्ब की रहमत
जिसने की है मेहनत
जिसने की..

पैसा शोहरत, ये दोनों मुसीबत
ये ना सब की किस्मत
ये बस उस की किस्मत
जिसने की है ज़हमत
उसपे रब्ब की रहमत
जिसने की है मेहनत
कहाँ से करूँ शुरुआत

उन भीड़ से भरी तंग गललियों से
जहाँ पर पला बड़ा घुमा उन गललियों से
या रिशेदारों की गालियों से
या काम से मिली मुझे तालियों से
या कभी टूट के रोने वाली आँखों से
या दुनिया जीत लेने वाली बातों से
या उन रातों से जिन रात सोयेया नहीं
ओर लिख डाला इतिहास इन हाथों से

मैं शुरू से शुरुआत करता हूँ
इक आम घर का मैं लड़का हूँ
कर दिन दुगने रात चोग्नी
परिवार को खुश मैं रखता हूँ
अपने दम पे बना अपने दम पे करा
जो भी किया मैंने लिया किसी का सहारा नहीं
मिलता है मौका एक बार
मेरा मौका खोने का इरादा नहीं
मैं इस से कम उस से ज्यादा नहीं
मैं हूँ पूरा खेल
मैं खेल का पेयादा नहीं
होना गरीब पैदा किस्मत
मरू भी गरीब
तो मिली जिंदगी का फायदा नहीं
जो भी करूँ मैं करूँ मैं सीना ठोक के
किसी से मैं डरूं
किया ऐसा कोई काम नहीं
जो भी मिला सफलता
उस सफलता के पीछे
मेरे पिताजी का नाम नहीं
लोग मिलते है पापा से
कहते है लड़के ने काम से पटयाल जि नाम है किया
सच बोलूं तो इस से बढ कर इक्का के लिए कोई इनाम नहीं

See also  हमनवा मेरे Humnava Mere Lyrics in Hindi

[पैसा शोहरत, ये दोनों मुसीबत
ये ना सब की किस्मत
ये बस उस की किस्मत
जिसने की है ज़हमत
उसपे रब्ब की रहमत
जिसने की है मेहनत
जिसने की है मेहनत] x 2

मुश्किल से मुश्किल को हल किया
किया आज मैंने ना कल किया
की है मैंने जी तोड़ मेहनत
ना आराम एक पल किया
हुई मुझ से भी काफी देखो गलतियाँ
गलतियों से अपनी सीख ली
जो बनाया मैंने खुद है बनाया
ना फैला के हाथ मैंने भीख ली
मेरी गरीबी थी मेरा मोटिवेशन
खराब थी सिचुएशन
मैंने हालात को मात दी
अपनी बनायी कुछ reputation
मैंने खुद पे यकीन किया
किया यकीन अपनी उड़ान पे
हिम्मत से काम लिया छोड़ी ना उम्मीद
नहीं तो बैठा होता बाप की दूकान पे

[पैसा शोहरत, ये दोनों मुसीबत
ये ना सब की किस्मत
ये बस उस की किस्मत
जिसने की है ज़हमत
उसपे रब्ब की रहमत
जिसने की है मेहनत] x 2