Web Development क्या है?#

hello guys aaj ki class me ham sikhne wale h ki Web Development क्या है to start krte h

ham pahle is class ka ek overview dek lete h to ham padne wale h ki
1. edited Web Development क्या है?

2.वेब डेवलपर क्या (What is Web developer in Hindi)

3.वेबसाइट डेवलपमेंट दो तरह के होते हैं
(Incorrect heading level)

4.वेब डेवलपर की योगयता (Web Developer Eligibility)

5.वेब डेवलपर बनने की स्किल्स (Web Developer Skill)

6.वेब डेवलपर कैसे बने (How To Become a Web developer in Hindi)

7.वेब डेवलपर के कोर्स (Web Developer Course)

8.1  HTML COURSE

8.2  CSS LANGUAGE

8.3  वेब डेवलपर बनने के लिए PHP

8. 4  Java Language

9.HTML कहाँ से और कैसे सीखें? How to learn HTML Online

10.CSS क्या है? (What is CSS in Hindi)

11.CSS कितने टाइप्स के होते हैं? (Types of CSS in Hindi)

12.Inline CSS

13.Internal CSS

14.External CSS

15.CSS कहाँ से और कैसे सीखें? How to learn CSS Online

Aur bhi bahut kuch … toh class mein end tak bane rhe

to let’s start it

हेलो दोस्तों, क्या आपको पता है Web Development और Android development इतना तेजी से आगे क्यों बढ़ रहा है? क्यों भविष्य में वेब डेवलपमेंट बहुत ही जरूरी कौशल (Skills) होने वाला है? हम यह भी देखेंगे कि वेब डेवलपमेंट के क्या-क्या नुकसान है और क्या-क्या फायदे हैं?

हालांकि ज्यादातर कोई भी skills सीखने के फायदे ही होते हैं नुकसान बहुत कम होता है, लेकिन कोई भी काम करो तो उसका प्रतिफल (byproduct) जरूर निकलता है।

इसको पढ़ने के बाद अगर आपके मन में किसी भी प्रकार का सवाल रह जाए, तो आप कमेंट में अवश्य पूछें, आपको जरूर उत्तर मिलेगा।

दोस्तों आज इंटरनेट बहुत ही ज्यादा फैल चुका है. लगभग विश्व की आधी आबादी के पास आज इंटरनेट है. अकेले भारत में लगभग 40 करोड इंटरनेट users है. अगर हम किसी भी चीज के बारे में जानना चाहते हैं हम सबसे पहले उस चीज को गूगल  पर search करते हैं. वह सारी जानकारी हमें उपलब्ध करा देती है. इंटरनेट क्षेत्र है जो कि युवाओं के लिए बहुत सारे अवसर पैदा कर रही है.

इंटरनेट में सारी जानकारी वेबसाइट के माध्यम से प्राप्त होती है. हम सबके मन में एक बार यह सवाल जरूर आया होगा कि यह वेबसाइट बनाता कौन है और यह वेबसाइट काम कैसे करता है? दोस्तों वेबसाइट इंटरनेट का address होता है जहां पर आपको किसी चीज के संबंधित जानकारी प्राप्त होती है.

आर्टिकल में मैं आपको वेबसाइट बनाने वाले के बारे में बताऊंगा. इस आर्टिकल में आज हम लोग web developer के बारे में जानेंगे. web developer से जुड़ी हर वह महत्वपूर्ण जानकारी इस आर्टिकल में आपको विस्तार से दूंगा जैसे कि

अगर आप web developer kaise bane और web developer kya hai? इन सब के बारे में जानकारी पाना चाहता थे हमारे इस आर्टिकल को पूरा ध्यान से पढ़िएगा.

वेब डेवलपर क्या (What is Web developer in Hindi)

सबसे पहले हम यह जानेंगे कि web developer kya hota hai? वेब डेवलपर उसे कहते हैं जो कि website  बनाता है, database तैयार करता है, web based software बनाता है, domain hosting management करता है.

दोस्तों वेबसाइट भी coding के द्वारा बनाई जाती है. जैसे कि आप जो यह blog पढ़ रहे हैं इसमें आपको तो सारी जानकारी मिल रही है पर यह वेबसाइट काम कैसे करता है यह सारा कुछ coding के द्वारा होता है. वेबसाइट के coding वाले portion को web developer तैयार करते हैं.

वेबसाइट गूगल में सर्च रिजल्ट दिखाने से लेकर आप तक जानकारी पहुंचाने जो भी प्रक्रिया है वह coding द्वारा कराई जाती है. वेबसाइट कैसा दिखेगा वेबसाइट कैसे काम करेगा यह सारी चीजें कोडिंग के द्वारा तय की जाती है.

वेबसाइट डेवलपमेंट दो तरह के होते हैं

  • front end development
  • back end development

Front end Development:- फ्रंट एंड डेवलपमेंट को क्लाइंट साइड डेवलपमेंट भी कहा जाता है. front end development में website designing, website theme जैसी चीजों के लिए कोडिंग की जाती है. वेबसाइट दिखने में जितना अच्छा होता है उसकी कोडिंग  उतनी  ही जटिल होती है.

फ्रंट एंड डेवलपमेंट में  डाटा को ग्ग्राफिकल इंटरफेस में  बदला जाता है. फ्रंट एंड डेवलपमेंट  के द्वारा ही वेबसाइट मैं किए गए इंफॉर्मेशन को दिखाया जाता है. फ्रंट एंड डेवलपमेंट के लिए वेब टेक्नोलॉजी जैसे HTML, CSS, JavaScript का प्रयोग किया जाता है.

Back end Development:- Back end development में वेबसाइट के काम करने के लिए कोडिंग की जाती है. back end development यूजर्स को दिखाई नहीं देता और इसमें वेबसाइट की सारी coding होती है जो की वेबसाइट को रन कराने में मदद करती है. back end develoment को वेबसाइट की backbone कहते हैं. back end development वेबसाइट की सारी database को मैनेज की जाती है. यह वेबसाइट की सबसे जटिल हिस्सा होती है.

किसी भी वेबसाइट को बनाने के लिए दो लोग काम करते हैं वेब डिजाइनर और वेब डेवलपर. वेब डेवलपर वेबसाइट के backend development के काम को करता है।

वेब डेवलपर वेबसाइट के functionality coding  पर काम करते हैं और वेबसाइट को smooth run कराते हैं. आप वेबसाइट के अंदर जो भी pictures जो भी डाटा और जो भी इंफॉर्मेशन देखते हैं। उन सब के मैनेजमेंट का काम भी वेब डेवलपर का होता है।

वेब डेवलपर की योगयता (Web Developer Eligibility)

दोस्तों web developer  बनने के लिए आपको ऐसी कोई शैक्षणिक योगिता की जरूरत नहीं होती है जिसके बिना आप वेब डेवलपर का कोर्स नहीं कर सकते हैं।

पर अगर आपने 12वीं की पढ़ाई computer science/computer programming language से की है तो आपको web developer कोर्स करने में बहुत ज्यादा मदद मिलेगी।

बहुत सारे कोचिंग संस्थानों में वेब डेवलपर का कोर्स कराया जाता है। कोचिंग संस्थानों में दाखिला लेने के लिए और कॉलेज में दाखिला लेने के लिए आपको कम से कम 12वीं की पढ़ाई किसी मान्यता प्राप्त board से करनी होती है।

  • वेब डेवलपर course आप दसवीं के बाद भी कर सकते हैं।
  • वेब डेवलपर बनने के लिए आपको computer science या BCA जैसे graduation course भी कर सकते हैं.
See also  Krsnaa IPO Allotment Status, GMP Today, Share Price

वेब डेवलपर बनने की स्किल्स (Web Developer Skill)

Web developer एक professional काम है वेब डेवलपर बनने के लिए आपके अंदर web developer skill होनी बहुत जरूरी है। अब मैं आप को उन skill की लिस्ट दूंगा जो कि एक वेब डेवलपर के लिए बहुत जरूरी है।

  • Web Developer बनने के लिए आपको कुछ प्रोग्रामिंग लैंग्वेज आना बहुत जरूरी है। CSS, HTML, PHP, JavaScript, Java, query.
  • वेब डेवलपर बनने के लिए आपको क्रिएटिव और लॉजिकल होना बहुत जरूरी है।
  • एक अच्छे वेब डेवलपर बनने के लिए आपके अंदर communication skill होनी बहुत जरूरी है ताकि आप अपनी टीम को अपने आइडिया के बारे में अच्छे से बता सकते हैं।
  • आपके अंदर management skill होना बहुत जरूरी है और साथ ही साथ new trend  के समझ भी होनी चाहिए।
  • आपको वेबसाइट डिजाइनिंग के टूल्स इस्तेमाल करने आने चाहिए जैसे कि photoshop, canvas, picsart.
  • आपको सॉफ्टवेयर लैंग्वेज की अच्छी जानकारी होनी चाहिए।

वेब डेवलपर कैसे बने (How To Become a Web developer in Hindi)

दोस्तों वेब डेवलपर बनने के लिए अभी बहुत सारे कोचिंग इंस्टीट्यूट जहां पर वेब डेवलपर (Web Developer Course) का कोर्स कराया जाता है बहुत सारे कॉलेजेस भी हैं जहां पर वेब डेवलपर का कोर्स कराया जाता है।

वेब डेवलपर बनने के लिए हमें वेब डेवलपर के कोर्स को करना बहुत जरूरी है। Web developer course करने से पहले आप कुछ कुछ कर सकते हैं जिससे आपको वेब डेवलपर बनने में बहुत ज्यादा मदद मिलेगी इन course को करने से आपको कंप्यूटर लैंग्वेज की बहुत सारी जानकारी हो जाती है।

इन सारे कोर्स में आपको कंप्यूटर लैंग्वेज के बेसिक और एडवांस लेवल की जानकारी दी जाती है जो कि एक बेहतरीन वेब डेवलपर बनने के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होती है। इसीलिए अगर आप एक अच्छा web developer बनना चाहते हैं। तो सबसे पहले इन course को आप कर लें ताकि आपको कंप्यूटर लैंग्वेज की एक अच्छी जानकारी हो। 

वेब डेवलपर के कोर्स (Web Developer Course)

Web developer मैं आपको कुछ प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सिखाया जाता है अब मैं आपको इन सारे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की लिस्ट दे रहा हूं।

 1  HTML COURSE सीखें

HTML programming language है जिसमें आपको वेबसाइट की संरचना (website structure) coding करनी सिखाई जाती है। वेबसाइट कैसा दिखेगा वेबसाइट का डिजाइन कैसा होगा यह सारी कुछ html language द्वारा किया जाता है। इसीलिए वेब डेवलपर बनने के लिए आपको सबसे पहले html course को करना होता है।

 2  CSS LANGUAGE सीखें

CSS एक client side scripting language है। स्ट्रक्चर के बाद जो भी कोडिंग की जाती वह css language से की जाती है। किसी भी वेबसाइट की अधिकतर कोडिंग css language से की जाती है।

यह बहुत ही logical language है इसको सीखने के लिए आपको regular css language की practice करनी होती है। इसलिए आप css language  का course जरूर करें तभी आप एक अच्छे web developer बन सकते हैं।

 3  वेब डेवलपर बनने के लिए PHP सीखें

वेब डेवलपर अपने अधिकतर काम php language से करते हैं यह बहुत ही कठिन लैंग्वेज में से एक है। आज अधिकतर कंपनियां जो कि वेब डेवलपर को नौकरी देती हैं उनकी मांग रहता है कि आपको php language आनी चाहिए।

PHP full form hypertext preprocessor है। लैंग्वेज के द्वारा हम अपनी वेबसाइट को security प्रदान करते हैं। यह एक powerful server side scripting language है।

 4  Java Language सीखें

दोस्तों वेबसाइट के जितने भी लॉजिकल कोडिंग होती हैं java script language से की जाती है और जावा एक लॉजिकल लैंग्वेज है इसको आप online course से कर सकते हैं।

इन सारे लैंग्वेज को सीखने के बाद आप कुछ महीने तक practice करें और खुद की वेबसाइट डिजाइन करें और वेबसाइट डिवेलप करें।

HTML क्या है? HTML कहाँ से और कैसे सीखें। पूरी जानकारी हिंदी में

दोस्तों जैसा की आप जानते ही हैं, की दुनिया में सभी चीज़ें कितनी तेज़ी से आगे बढ़ रही हैं, और इसी के साथ नयी नयी टेक्नोलॉजी भी आ रही हैं, और वो सभी टेक्नोलॉजी में प्रोगरामिंग या कोडिंग का यूज़ किआ जाता है, उसी तरह से आज हम आपको आज HTML क्या है के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं।

अगर आप एक Web Developer बनना चाहते है तो, या खुद से किसी भी Website को Design करना चाहते है, तो सबसे पहले आपको HTML के बारे में जानकारी होना चाहिए। HTML सीखना बहुत ही आसान है, आप इसे YouTube के द्वारा online video देखकर भी सिख सकते हैं।

बहुत सारे लोगों का कहना हैं की Web Developer बनने के लिए आपके पास Computer related डिग्री होना चाहिए पर ऐसा कुछ नहीं है अगर आपके पास knowledge है तो डिग्री का कोई महत्व नहीं है क्योंकि सभी Company डिग्री देखकर जॉब नहीं देते हैं, वहां आपका काम देखा जाता है, और आजकल तो एसी बहौत सारी अच्छी कंपनी हैं, जहाँ पर आपको बिना डिग्री के भी जॉब मिल जाएगी।

वैसे तो अगर आप आज यहाँ HTML क्या है जानने आएं हैं, तो आपको प्रोगरामिंग या कोडिंग के बारे में भी थोड़ा बहौत जानकारी होगी, और अगर नहीं है तो यहाँ निचे दीगयी लिंक से आप जान सकते हैं की coding क्या है।

कोडिंग या प्रोगरामिंग का यूज़ हम सॉफ्टवेयर बनाने में करते हैं, और उसके लिए हमे बहौत सारी प्रोगरामिंग लैंग्वेज की भी जानकारी होनी चाइए तभी हम कोई भी सॉफ्टवेयर, एप्प या कोई वेबसाइट बना सकते हैं।

और HTML की अगर बात करें तो, इसका यूज़ ज्यादा तर किसी वेबसाइट या एप्प में ज्यादा किआ जाता है, और इसी की मदद से इनकी शुरुआत की जाती है, तो आगे आज हम आपको HTML के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं, तो इस आर्टिकल तो अच्छे से पढ़िएगा, ताकि आपसे कोई भी चीज़ मिस न हो।

Blogging की शुरुआत करने के लिए सबसे अहम चीज़ होती अपना खुद का एक website बनाना. और website बनाने के लिए क्या चाहिए? HTML के पूरी तरह से ज्ञान होना चाहिए. Blogging की दुनिया में सफलता चाहिए तो एक ब्लॉगर को HTML का ज्ञान होना बहुत जरुरी है. तो आइए आपको आगे बताते हैं, HTML के बारे में पूरी जानकारी।

TML क्या है?

HTML को Hypertext Markup Language कहा जाता है, जिसको शार्ट में यानी शार्ट फॉर्म में HTML कहा जाता है। HTML एक कंप्यूटर लैंग्वेज होती है, जिसका की ज्यादातर इस्तेमाल वेबसाइट बनाने में किआ जाता है। HTML का इस्तेमाल वेब डॉक्युमेंट (वेब पेज) बनाने के लिए किआ जाता है।

See also  BRABU Exam Date 2021 BA B.ed BHMS Part 1, 2, 3 Time Table Online

किसी भी वेबसाइट या वेब पेज को बनाने की शुरुआत HTML से ही की जाती है, अगर हम आसान भाषा में कहें तो, HTML का इस्तेमाल एक सिंपल वेब्स पेज को बनाने के लिए किआ जाता है, और फिर इससे और अच्छा बनाने के लिए CSS का इस्तेमाल किआ जाता है, जिसके बाद एक वेबसाइट को अच्छा लुक दिया जाता है।

Hypertext का मतलब-

हाइपरटेक्स्ट वह तरीका है जिसके द्वारा वेब को Explore किया जाता है. यह एक साधारण टेक्स्ट ही होता है. लेकिन, Hypertext अपने साथ किसी अन्य टेक्स्ट को जोड़े रखता है. जिसे माउस क्लिक, टैप से दबाकर सेव किया जाता है।

Markup का मतलब-

HTML वेब डॉक्युमेंट बनाने के लिए “HTML Tags” का उपयोग करती है. प्रत्येक HTML Tag अपने बीच आने वाले टेक्स्ट को किसी प्रकार में परिभाषित करता है. इसे ही Markup कहते है. “” एक HTML Tag है जो अपने बीच आने वाले टेक्स्ट को तिरछा (italic) करता है।

Language का मतलब-

HTML एक भाषा है. क्योंकि यह वेब डॉक्युमेंट बनाने के लिए code-words का इस्तेमाल करती है. जिन्हें Tags कहते है. और इन Tags को लिखने के लिए HTML का syntax भी है. इसलिए यह एक भाषा भी है. नीचे HTML का Syntax दिखाया गया है।

HTML किसने बनाया?

इसका अविष्कार Tim-Berners-Lee ने 1990 में किया था | उससे पहले Tim-Berners-Lee ये भौतिक विज्ञानी; contractor के रूप में CERN(Conseil Européen pour la Recherche Nucléaire) इस French Organization में काम करते थे |

CERN ये European Organization for Nuclear Research का अंग्रेजी में संक्षिप्त रूप है |

HTML के अविष्कार से पहले 1980 में जब Tim-Berners-Lee ये CERN में contractor के रूप में काम काम कर रहे थे तब उन्होंने documents को share करने के लिए ENQUIRE इस software का निर्माण किया | ये software एक simple HyperText Program था |

उसके बाद 1990 के आखिर में HTML को निर्दिष्ट करते हुए उन्होंने Browser और 

सर्वर क्या है? (What is Server) सर्वर एक कंप्यूटर होता है जो अन्य कंप्यूटरों को डेटा प्रदान करता है। यह एक Local area network (LAN) या इंटरनेट पर Wide area network (WAN) पर सिस्टम को डेटा प्रदान कर सकता है। वेब सर्वर, मेल सर्वर और फ़ाइल सर्वर सहित कई प्रकार के सर्वर मौजूद हैं।
कुछ और मुख्य सर्वर जिनमे Web server, Mail server, App server और Database server शामिल है. सर्वर कई और प्रकार के भी होते है, जिनके बारे में हम नीचे बात करेंगे. सर्वर पूरी तरह से dedicated होते है.
इसका मतलब है, कि वे सर्वर task करने के अलावा कोई दूसरा काम नही करते है. हालांकि multiple operating system पर एक computer एक साथ several programs को execute कर सकता है.

” target=”_blank” style=”box-sizing: border-box; background-color: transparent; color: rgb(0, 0, 0) !important; text-decoration: none !important; border-bottom: 1px dotted rgb(0, 0, 0) !important;”>Server software को लिखा था।

HTML का इस्तेमाल कहाँ किआ जाता है?

वैसे तो इसका इस्तेमाल बहौत जगह किआ जाता है लेकिन जाता तर इसका इस्तेमाल वेब डिज़ाइन या वेबसाइट डिज़ाइन के लिए किआ जाता है। programmer को web-pages पर graphics, video, audio, images इत्यादि add करके web-page को attractive बनाने की facility provide करता है। HTML का इस्तेमाल HTML Document बनाने के लिए किआ जाता है। इसके अलावा निचे दिए गए प्रोगरामिंग के लिए भी दिया जाता है।

  • Web Page Development
  • <a aria-describedby=”tt” href=”https://hindimeinfo.com/wiki/website/” class=”glossaryLink” data-cmtooltip=”
    Website
    एक वेबसाइट सार्वजनिक रूप से सुलभ, परस्पर वेब पृष्ठों का एक संग्रह है जो एक एकल डोमेन नाम साझा करते हैं। एक व्यक्ति, समूह, व्यवसाय या संगठन द्वारा विभिन्न उद्देश्यों की पूर्ति के लिए वेबसाइटों को बनाया और बनाए रखा जा सकता है। सभी सार्वजनिक रूप से सुलभ वेबसाइटों के साथ वर्ल्ड वाइड वेब का गठन होता है।वेबसाइट एक डिजिटल प्लेटफार्म है जहाँ हम अपनी सारी जानकारी एक जगह पर सार्वजनिक सुरक्षित रख सकते है| हर वेबसाइट का एक यूनिक एड्रेस होता है जैसे- www.google.com, www.facebook.com, www.hindimeinfo.com इत्यादि इसे डोमेन एड्रेस भी कहते है| आप अपनी खुद की वेबसाइट बनाकर ऑनलाइन पैसे भी कमा सकते हैं.&nbsp;

    ” target=”_blank” style=”box-sizing: border-box; background-color: transparent; color: rgb(0, 0, 0) !important; text-decoration: none !important; border-bottom: 1px dotted rgb(0, 0, 0) !important;”>Website design

  • Game Development
  • Web Document Formatting
  • HTML क्या है, यानी What is HTML in Hindi में इसके बारे में तो आपने जान लिआ, आइए अब उसके कुछ basic tags के बारे में जान लेते हैं. HTML tag अन्य text से पूरा अलग होता है जिसके मदद से html code लिखा जाता है.

इसमें HTML tags keywords होता है जिसे हम बंद brackets के अन्दर रखते हैं जैसे . tags के मदद से हम अपने website को नए नए रूप दे सकते हैं, उसमे हम images, tables, colors आदि चीज़ का इस्तेमाल कर webpage बना सकते हैं.

<HTML> </HTML>

किसी भी html file की शुरुआत इसी tag से किया जाता है इसी tag से पता चलता है की ये एक html फाइल है और बाकि सब इसी tag के अंदर होता है इस tag को लास्ट में close किया जाता है.

<head> </head>

इस टैग के अंदर document के बारे में information होती है यदि आप का web page कोई script apply करता है तो ओ सब head के अंदर आ जाते है और यर हमेसा html के निचे होता है और html के बाद close होता है.

<title> </title>

इस tag के द्वारा webpage का title display किया जाता है यह tag head के अंदर होता है.

<body> </body>

जो भी text body के अंदर होती है ओ program के interpret होने के बाद वही display होती है ये हमेसा html close होने के बाद close होता है.

अब इस पूरे Document को Save कर लिआ जाता है, और इस document को Save करते वक्त आपको कुछ बातों का ध्यान देना है। जैसे – File name को .html, Save as file को All files तथा Unicode को ANSI Select करके Save करे। पूरे Document को html में save करने के बाद आप इसे Browse करके check कर सकते है।

HTML कहाँ से और कैसे सीखें? How to learn HTML Online

अगर आपको HTML सीखना है, और और इसकी मदद से काम करना है, तो आप ऑनलाइन भी html पढ़ सकते हैं, आपको ऑनलाइन बहौत सारी एसी वेबसाइट और YouTube channel मिल जायेंगे जहाँ से आपको फ्री में html सीखने का मौका मिलेगा। आइए आपको कुछ एसी ही वेबसाइट की एक लिस्ट बताते हैं।

w3schools.comFREE
tutorialspoint.comFREE
html.comFREE
codecademy.comFREE/PAID
Udemy.comFREE/PAID

इन सब के अलावा अगर आप YouTube पर थोड़ा रिसर्च करेंगे, तो आपको बहौत सारी अच्छी क्लास मिल जायेंगी, जहाँ पर आपको फ्री में html के बारे में सब कुछ जानने को मिल जाएगा, और साथ ही आपको इसके बारे में बहौत कुछ सीखने को भी मिलेगा।

See also  How to Unlock Your True Potential

तो दोस्तों आज हमने आपको इस पोस्ट में बताया की HTML क्या है? और आप इसे कैसे सीख सकते हैं, हम तो आपको यही बोलेंगे की आज के समय में आपको भी कोडिंग के बारे में जानकारी होनी चाइए, और साथ ही बनना भी चाइए।

क्यू की आने वाले समय में इसकी सबसे ज्यादा जरूरत होने वाली है, सभी चीज़ें अब ऑनलाइन और इलेक्ट्रॉनिक की मदद से की जा रही है, और साथ ही सभी चीज़ें स्मार्ट भी होगयी हैं।

CSS क्या है? CSS कहाँ से और कैसे सीखें। पूरी जानकारी हिंदी में

जैसा की आप जानते ही हैं, की दुनिया में सभी चीज़ें कितनी तेज़ी से आगे बढ़ रही हैं, और इसी के साथ नयी टेक्नोलॉजी भी आ रही हैं, और वो सभी टेक्नोलॉजी में प्रोगरामिंग या कोडिंग का यूज़ किआ जाता है, उसी तरह से आज हम आपको आज CSS क्या है के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं।

अगर आप एक Web Developer बनना चाहते है तो, या खुद से किसी भी Website को Design करना चाहते है, तो सबसे पहले आपको CSS के बारे में जानकारी होना चाहिए। CSS सीखना बहुत ही आसान है, आप इसे YouTube के द्वारा online Video देखकर भी सिख सकते हैं।

बहुत सारे लोगों का कहना हैं की Web Developer बनने के लिए आपके पास Computer related डिग्री होना चाहिए पर ऐसा कुछ नहीं है अगर आपके पास knowledge है तो डिग्री का कोई महत्व नहीं है क्योंकि सभी Company डिग्री देखकर जॉब नहीं देते हैं, वहां आपका काम देखा जाता है, और आजकल तो एसी बहौत सारी अच्छी कंपनी हैं, जहाँ पर आपको बिना डिग्री के भी जॉब मिल जाएगी।

Blogging करने के लिए हमारे पास computer और internet के साथ साथ बहुत से ज्ञान की जरुरत है जो एक website बनाते वक़्त काम आती है, और जो सबसे जरुरी चीज है वो है HTML. HTML क्या है इसके ऊपर हमने एक लेख लिखा है आप चाहे तो वहां से इसकी जानकारी हासील कर सकते हैं.

वैसे तो अगर आप आज यहाँ CSS क्या है जानने आएं हैं, तो आपको प्रोगरामिंग या कोडिंग के बारे में भी थोड़ा बहौत जानकारी होगी, और अगर नहीं है तो यहाँ निचे दीगयी लिंक से आप जान सकते हैं की coding क्या है।

coding क्या है और इसे कैसे सीखे? हिंदी में जानकारी

कोडिंग या प्रोगरामिंग का यूज़ हम सॉफ्टवेयर बनाने में करते हैं, और उसके लिए हमे बहौत सारी प्रोगरामिंग लैंग्वेज की भी जानकारी होनी चाइए तभी हम कोई भी सॉफ्टवेयर, एप्प या कोई वेबसाइट बना सकते हैं।

और CSS की अगर बात करें तो, इसका यूज़ ज्यादा तर किसी वेबसाइट या एप्प में ज्यादा किआ जाता है, और इसी की मदद से इनकी शुरुआत की जाती है, तो आगे आज हम आपको CSS के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं, तो इस आर्टिकल तो अच्छे से पढ़िएगा, ताकि आपसे कोई भी चीज़ मिस न हो।

CSS क्या है? (What is CSS in Hindi)

CSS का पूरा फुल फॉर्म Cascading Style Sheet है | CSS का इस्तेमाल करके HTML Document को design किया जाता है | CSS से background colors, images, height, width, text font, font size, layout और भी कई चीजों को अपने अंदर में रखता है |

CSS ये काफी आसान Styling Language है | इस language का इस्तेमाल HTML Document के style और layout के लिए किया जाता है | HTML और CSS हमेसा साथ में ही इस्तेमाल किये जाते हैं. CSS के बिना हम html का इस्तेमाल कर सकते हैं मगर html के बिना css का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है.

HTML के अतिरिक्त CSS का उपयोग अन्य Markup Languages जैसे XML, XUL, XHTML तथा SVG आदि के साथ भी किया जाता है।इसके अपने Code-Words यानि स्टाइल रूल्स है, जो एक वेबपेज की अलग-अलग प्रकार से फॉर्मेटिंग करते है.

CSS कितने टाइप्स के होते हैं? (Types of CSS in Hindi)

CSS के तीन types के होते हैं। यानि इसको तीन तरह से HTML elements में डाला जा सकता है। जो इस प्रकार हैं-

  • Inline
  • Internal
  • External

Inline CSS

जब हम किसी HTML tag के अंदर ही CSS लिखते हैं तो उसे Inline CSS बोलते हैं। इस तरीके में CSS की Properties “style” attribute के अंदर लिखी जाती हैं।

Internal CSS

इस तरीके में CSS किसी HTML पेज में ही लिखते हैं जिसका effect भी केवल उसी पेज पर पड़ता हैं। इस तरीके में CSS style tags के अंदर लिखते हैं तथा style tags head tags के अंदर रहते हैं। उदाहरण के लिए-

External CSS

HTML में external CSS का use हम बहुत से html page के style को एक साथ बनाने के लिए करते हैं। इसके जरिये आप पूरी website के look को एक ही फाइल से change कर सकते हो। External style sheet को प्रयोग करने के लिए आपको HTML page के में file link करनी होगी।

CSS और HTML को आसानी से लिखा जा सकता है। इनको लिखने के लिये एक Text Editor की आवश्यकता होती है जैसे Notepad, Notepad +, Sublime Text तथा एक Web Browser की आवश्यकता होती है ताकि कोड लिख लेने के बाद उन्हें इंटरनेट के द्वारा देखा जा सके।

CSS वक़्त बचाता है, एक html के webpage में use किये गए style को हम दुसरे बहुत सारे web page में इस्तेमाल कर सकते हैं वो भी css के code को सिर्फ एक बार लिख कर.

हमे अलग अलग web page को बनाने के लिए बार बार css का code लिखना नहीं पड़ेगा. और सिर्फ एक ही बार लिखे हुए css code का हम इस्तेमाल करके जितने चाहे उतने web pages बना सकते हैं, जिसमे हमारा काफी वक़्त बच जाता है.

यदि आप वेब डिज़ाइनिंग या वेब डेवलपमेंट में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आपको सीएसएस का उपयोग आना अनिवार्य है। मुझे उम्मीद है कि अब आप HTML – CSS की कांसेप्ट को समझ चुके हैं।

CSS कहाँ से और कैसे सीखें? How to learn CSS Online

अगर आपको HTML सीखना है, और और इसकी मदद से काम करना है, तो आप ऑनलाइन भी html पढ़ सकते हैं, आपको ऑनलाइन बहौत सारी एसी वेबसाइट और YouTube channel मिल जायेंगे जहाँ से आपको फ्री में html सीखने का मौका मिलेगा। आइए आपको कुछ एसी ही वेबसाइट की एक लिस्ट बताते हैं।

w3schools.comFREE
tutorialspoint.comFREE
codecademy.comFREE/PAID
Udemy.comFREE/PAID

इन सब के अलावा अगर आप YouTube पर थोड़ा रिसर्च करेंगे, तो आपको बहौत सारी अच्छी क्लास मिल जायेंगी, जहाँ पर आपको फ्री में CSS के बारे में सब कुछ जानने को मिल जाएगा, और साथ ही आपको इसके बारे में बहौत कुछ सीखने को भी मिलेगा।

Ummeed hai aapko hamari iss class mein jo bhi bataya gaya h, wo poori tarah se samjh mein aaya hoga…. Yadi haan toh hamari aage aane wali classes ko bhi join kare Aur apna feed…..Dhanyawaad.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *