C Language क्या है? सी लैंग्वेज कहाँ से और कैसे सीखें। पूरी जानकारी हिंदी में

hello guys aaj ki class me ham sikhne wale h ki C Language क्या है? सी लैंग्वेज कहाँ से और कैसे सीखें। पूरी जानकारी हिंदी में to start krte h

ham pahle is class ka ek overview dek lete h to ham padne wale h ki

1.C Language क्या है? सी लैंग्वेज कहाँ से और कैसे सीखें। पूरी जानकारी हिंदी में#
2.सी लैंग्वेज क्या है (What is C Programming Language in Hindi)
3.C लैंग्वेज यूज़ कहाँ किया जाता है?
4.‘C’ लैंग्वेज क्यों सीखें?
5.C Language कहाँ से और कैसे सीखें? How to learn C Language Online
6.C++ क्या है?
7.C लैंग्वेज और C++ में क्या अंतर है? Difference Between C Language and C++ in Hindi
8.C++ कहाँ से और कैसे सीखें?
9.सी ++ लैंग्वेज की विशेषताएं ( Features of C++ Language In Hindi )
10.सी ++ लैंग्वेज क्यों सीखें? (Why to Learn C++ in Hindi)
11.निष्कर्ष ( Conclusion )

Aur bhi bahut kuch … toh class mein end tak bane rhe

to let’s start it

क्या आप भी जानना चाहते हैं की, C Language क्या है? (What is C Programming in Hindi), क्या आपको भी Coding क्या Programing में इंट्रेस्ट है। अगर है तो बहौत अच्छी बात है। आजकल हर किसी को प्रोगरामिंग सीखनी चाइए, और C Language भी इसी का हिस्सा है, जिसके बारे में आज हम आपको जानकारी देने वाले हैं।

जैसा की हमने आपको बताया की आजकल कोडिंग या प्रोगरामिंग को सीखना बहौत अच्छी बात है, और सबको इसके बारे में जानकारी होनी चाइए, अभी भी टाइम सब डिजिटल का चल रहा है, और ऐसे में आप सोच सकते हैं की आने वाला टाइम और तेज़ी से बढ़ने वाला है, और साथ ही इसकी भी बहौत जरुरत होने वाली है।

सी लैंग्वेज भी PHPCSSC++ और HTML जैसी ही एक कोडिंग लैंग्वेज है। इसको भी कोई प्रोग्राम बनाने के लिए उपयोग में लिए जाता है। आप भी हर दैनंदिन जीवन के काम को आसान करने के लिए Software और apps का इस्तेमाल करते है. software के Example- Chrome, Windows, VLC, जैसे और भी सॉफ्टवेयर हैं।

आज हम आपको जिस लैंग्वेज के बारे में बता रहे हैं, वो दुनिया की सबसे पुरानी programming language है, जिसके बारे में आज हम आपको विस्तार से बताने वाले है. इसके साथ ही सी प्रोग्रामिंग कहां उपयोग होती है? और सी लैंग्वेज कैसे सीखें, C लैंग्वेज यूज़ कहाँ किया जाता है?, ‘C’ लैंग्वेज क्यों सीखें? , C Language कहाँ से और कैसे सीखें? How to learn C Language Online, C++ क्या है? और आप इसे कैसे सीख सकते हैं, हम तो आपको यही बोलेंगे की आज के समय में आपको भी कोडिंग के बारे में जानकारी होनी चाइए, और साथ ही बनना भी चाइए।

इसके बारे में भी हम आज आपको पूरी जानकारी देने वाले हैं, तो इस class को अच्छे से और पूरा पढ़ें, ताकि आपको सभी चीज़ें अच्छे से समझ में आये और कोई भी चीज़ मिस न हो।

Umeed hai ki class appko pasand aaye gi toh chaliye milte h class me.

C Language क्या है, what is c language in hindi

सी लैंग्वेज क्या है (What is C Programming Language in Hindi)

C लैंग्वेज एक कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है, यह एक कंप्यूटर की भाषा है जो कंप्यूटर को यह निर्देश देती है कि उसे किस तरह का काम करना है। C Language को किसी भी सॉफ्टवेयर या एप्लीकेशन को बनाने के लिए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का ही यूज़ किया जाता है।

सी लैंग्वेज को Dennis Ritchie के द्वारा सन 1969 से 1973 के बीच बनाया गया था। ये लैंग्वेज हर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का एक compiler होता है जो कंप्यूटर स्क्रीन पर लिखे गए कोड को बाइनरी में बदल देता है।

इसे Computer के Application Software और System Software बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। UNIX operating system को develop करने के लिए C Programming Language को बनाया गया।

आपको बता दें की आज भी C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल सिस्टम सॉफ्टवेयर (System Software) और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर (Application Software) बनाने में किया जाता है। विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम (Windows Operating System), लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम (Linux Operating System) और यूनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम (UNIX Operating System) को भी बनाने में C प्रोग्रामिंग का उपयोग किया गया था।

C को system development language के हिसाब से ज्यादा इस्तमाल किया जाता है क्यूंकि ये ऐसे code produce करता है जो की इतने ज्यादा fast run करते हैं जितनी की fast assembly language run करते हैं.

नए languages जैसे की Python और Java ज्यादा features offer करते हैं (जैसे की garbage collection, dynamic typing) C programming की तुलना में. लेकिन इसमें performance low हो जाती है additional processing के कारण.

C लैंग्वेज यूज़ कहाँ किया जाता है?

  • एम्बेडेड सिस्टम में ‘सी’ लैंग्वेज का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।
  • इसका उपयोग सिस्टम एप्लिकेशन को बनाने करने के लिए किया जाता है।
  • यह डेस्कटॉप एप्लीकेशन को बनाने के लिए यूज़ किआ जाता है।
  • Adobe के सॉफ्टवेयर जैसे Photoshop वगेरा भी सी लैंग्वेज की मदद से बनाया जाता है।
  • इसका उपयोग ब्राउज़र और उनके एक्सटेंशन को बनाने के लिए किया जाता है। Google का क्रोमियम ‘C’ प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का उपयोग करके बनाया गया है।
  • इसका उपयोग डेटाबेस को बनाने के लिए किया जाता है। MySQL सबसे लोकप्रिय डेटाबेस सॉफ्टवेयर है जिसे ‘C’ लैंग्वेज का उपयोग करके बनाया गया है।
  • इसका उपयोग ऑपरेटिंग सिस्टम को विकसित करने में किया जाता है। ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे कि ऐप्पल के ओएस एक्स, माइक्रोसॉफ्ट के विंडोज और सिम्बियन को ‘सी’ भाषा का उपयोग करके विकसित किया गया है। इसका उपयोग डेस्कटॉप के विकास के साथ-साथ मोबाइल फोन के ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए किया जाता है।
See also  CBSE 12th time table 2021 {Exam Cancelled} no dates will be released

इस प्रोगरामिंग लैंग्वेज को सभी सभी programming language का आधार माना जाता है क्योंकि इसमें सारे syntax बहुत ही आसान होते हैं और सभी programming language को develop करने में C programming language का इस्तेमाल किया गया है, इसी वजह से इस programming लैंग्वेज को सबसे शुरू में सिखाया जाता है।

सी लैंग्वेज को सीखने के लिए आपको बहुत ही अभ्यास करना होगा, अभ्यास करने के लिए आपको एक सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होगी। जिसे Turbo C/C++ के नाम से जाना जाता है, यह बिलकुल फ्री सॉफ्टवेयर है, आपको इसे अपने सिस्टम में इनस्टॉल करना होगा ।

C Language क्या है?

‘C’ लैंग्वेज क्यों सीखें?

जैसा कि हमने पहले अध्ययन किया था, ‘C’ Language कई प्रोग्रामिंग भाषाओं के लिए एक आधार भाषा है। इसलिए, अन्य प्रोग्रामिंग भाषाओं का अध्ययन करते समय ‘C’ Language को मुख्य भाषा के रूप में सीखना एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। यह समान अवधारणाओं को साझा करता है जैसे डेटा प्रकार, ऑपरेटर, नियंत्रण कथन और कई और।

विभिन्न अनुप्रयोगों में ‘सी’ का व्यापक रूप से उपयोग किया जा सकता है। यह एक सरल भाषा है और तेजी से निष्पादन प्रदान करती है। मौजूदा बाजार में ‘सी’ डेवलपर के लिए कई नौकरियां उपलब्ध हैं। आजकी तारिक में आपको बहौत साड़ी नौकरी मिल जायेंगी, और आने वाले समय में भी इसका बहौत यूज़ किआ जायेगा।

अगर C Language आपने सिख ली तो आपको दुसरे कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सिखने में कोई दिक्कत नहीं होगी, सी लैंग्वेज सीखे के बाद आप कंप्यूटर (Computer) के सिस्टम सॉफ्टवेर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेर दोनों बना सकते हो।

आपको बता दें की C language सबसे basic programing language है। अगर आप computer के programming field में enter करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको C language सीखना पड़ेगा। अगर आप बिना C language को सीखे दुसरे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखते हैं।

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (Computer Programming Languages) में C लैंग्वेज बहोत ही पोपुलर है और इसका प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल अभी भी कई सॉफ्टवेर बनाने में किया जाता ह।

ये एक बेसिक्स और बहोत ही इजी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज माना जाता है अगर आपने सी लैंग्वेज सिख लिया तो बाकी कंप्यूटर लैंग्वेज भी आसानी से सिख सकते है जावा लैंग्वेज (Java Language) , सी प्लस प्लस (C++) इत्यादि तो चलिए सीखते है।

Ummeed h ki class aapko pasand aa rahi hogi to bane rahiye class me our sikte rahiye to jante h

C Language कहाँ से और कैसे सीखें? How to learn C Language Online

अगर आपको C Language सीखना है, और और इसकी मदद से काम करना है, तो आप ऑनलाइन भी C Language पढ़ सकते हैं, आपको ऑनलाइन बहौत सारी एसी वेबसाइट और YouTube channel मिल जायेंगे जहाँ से आपको फ्री में C Language सीखने का मौका मिलेगा। आइए आपको कुछ एसी ही वेबसाइट की एक लिस्ट बताते हैं।

w3schools.comFREE
tutorialspoint.comFREE
learn-php.orgFREE
codecademy.comFREE/PAID
Udemy.comFREE/PAID

इन सब के अलावा अगर आप YouTube पर थोड़ा रिसर्च करेंगे, तो आपको बहौत सारी अच्छी क्लास मिल जायेंगी, जहाँ पर आपको फ्री में C Language के बारे में सब कुछ जानने को मिल जाएगा, और साथ ही आपको इसके बारे में बहौत कुछ सीखने को भी मिलेगा।

तो दोस्तों आज हमने आपको इस पोस्ट में बताया की C Language क्या है? और आप इसे कैसे सीख सकते हैं, हम तो आपको यही बोलेंगे की आज के समय में आपको भी कोडिंग के बारे में जानकारी होनी चाइए, और साथ ही बनना भी चाइए।

क्यू की आने वाले समय में इसकी सबसे ज्यादा जरूरत होने वाली है, सभी चीज़ें अब ऑनलाइन और इलेक्ट्रॉनिक की मदद से की जा रही है, और साथ ही सभी चीज़ें स्मार्ट भी होगयी हैं।

C++ क्या है? C++ कहाँ से और कैसे सीखें। पूरी जानकारी हिंदी में

बहौत सारे लोग ये जानना चाहते हैं की C++ क्या है (What is C++ in Hindi), और सायद आप भी यही जानने यहाँ आये हैं, आज हम आपको ये तो बतायेंगे हे की C++ क्या है, और साथ ही ये भी बतायेंगे की, C++ और C Language में क्या अंतर है। तो इस आर्टिकल को अच्छे से और पूरा पढ़ते रहें।

क्या आपको भी Coding क्या Programing में इंट्रेस्ट है। अगर है तो बहौत अच्छी बात है। आजकल हर किसी को प्रोगरामिंग सीखनी चाइए, और C++ भी इसी का हिस्सा है, जिसके बारे में आज हम आपको जानकारी देने वाले हैं।

जैसा की हमने आपको बताया की आजकल कोडिंग या प्रोगरामिंग को सीखना बहौत अच्छी बात है, और सबको इसके बारे में जानकारी होनी चाइए, अभी भी टाइम सब डिजिटल का चल रहा है, और ऐसे में आप सोच सकते हैं की आने वाला टाइम और तेज़ी से बढ़ने वाला है, और साथ ही इसकी भी बहौत जरुरत होने वाली है।

दोस्तों C++ भी PHPCSS, और HTML जैसी ही एक कोडिंग लैंग्वेज है। इसको भी कोई प्रोग्राम बनाने के लिए उपयोग में लिए जाता है। आप भी हर दैनंदिन जीवन के काम को आसान करने के लिए Software और apps का इस्तेमाल करते है. software के Example- Chrome, Windows, VLC, जैसे और भी सॉफ्टवेयर हैं।

आज हम आपको जिस लैंग्वेज के बारे में बता रहे हैं, वो दुनिया की सबसे पुरानी Programming language है, जिसके बारे में आज हम आपको विस्तार से बताने वाले है. इसके साथ ही सी प्रोग्रामिंग कहां उपयोग होती है? और सी लैंग्वेज कैसे सीखें, इसके बारे में भी हम आज आपको पूरी जानकारी देने वाले हैं, तो इस आर्टिकल को अच्छे से और पूरा पढ़ें, ताकि आपको सभी चीज़ें अच्छे से समझ में आये और कोई भी चीज़ मिस न हो।

See also  T20 world cup Bangladesh squad 2021 Bangladesh team, Match Schedule
C++ क्या है, What is C++ in Hindi

C++ क्या है?

C++ एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है, जो कि Object Oriented Programming System का हिस्सा है। इस लैंग्वेज को बजारने स्ट्रोस्ट्रुप ने 1985 में डेवलप किया था यह ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग को अनुमति देने के लिए अन्य विशेषताओं के साथ “classes” nominated एक अवधारणा का उपयोग करके डेटा abstract का उपयोग करता है।

C में virtual function नहीं होते हैं. C एक middle level programming language होती है, जो top down approach का इस्तेमाल करती है. C लैंग्वेज में namespace उपलब्ध नहीं होता है। C++ में वर्तमान में 35 से अधिक विभिन्न ऑपरेटर हैं, जो एरथमेटिक और बिट मैनीपुलेशन से लेकर लॉजिकल ऑपरेशन्स, तुलना और बहुत कुछ कर सकता हैं।

सी++ प्रोग्रामिंग का मुख्य उद्देश्य ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड अवधारणाओं को पहले से उपलब्ध C प्रोग्रामिंग में जोड़ना था। आज के समय में, ऑबजेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग को प्रोग्रामिंग में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। C ++ प्रोग्रामिंग भाषा में लिखे गए प्रोग्राम ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे की यूनिक्स, लिनक्स, विंडोज इत्यादि पर चलाए जा सकते हैं। ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड अवधारणाओं का उपयोग करने के लिए क्लासेज (Classes) बनाई गई हैं।

विभिन्‍न प्रकार के Mobile Platforms, Satellite Connected Software, Set Top Box आदि के Software भी “C++” Language में Develop किये जाते हैं। iPhone व iPad की Programming के Codes को आसान व Reusable बनाने के लिए “C++” Language को Use किया जाता है।

C लैंग्वेज और C++ में क्या अंतर है? Difference Between C Language and C++ in Hindi

C लैंग्वेज और C++ में क्या अंतर है? Difference Between C Language and C++ in Hindi
  • C Language एक procedure-oriented programming language होती है और C++ एक procedure और Object-oriented programming language होती है.
  • C Language में कभी भी function overloading नहीं होता है जबकि C++ में होता है.
  • C Language एक top-down approach है जबकि C++ एक bottom-up approach है.
  • C Language में inheritance नहीं होता है जबकि C++ में होता है.
  • C Language में namespace भी नहीं पाया जाता है जबकि C++ में पाया जाता है.
  • C Language एक middle-level programming language होती है जबकि C++ एक high-level programming language होती है.
  • C++ में polymorphism concept होता है जबकि C Language में नहीं होता है
  • C Language में कोई भी virtual function नहीं होता जबकि C++ में होता है.
  • C Language में exception handling सम्भव नहीं होता है जबकि C++ में होता है.
  • C++ में user define और built-in दोनों 
  • C++ में operator overloading होता है जबकि C Language में नहीं होता है.
  • C Language में encapsulation का कांसेप्ट नहीं चलता है जबकि C++ में लता है.
  • C Language reference variable को सपोर्ट नहीं करती जबकि C++ करती है.

C++ क्यों सीखें?

जैसा कि हमने पहले अध्ययन किया था, C++ कई प्रोग्रामिंग भाषाओं के लिए एक आधार भाषा है। इसलिए, अन्य प्रोग्रामिंग भाषाओं का अध्ययन करते समय C++ को मुख्य भाषा के रूप में सीखना एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। यह समान अवधारणाओं को साझा करता है जैसे डेटा प्रकार, ऑपरेटर, नियंत्रण कथन और कई और।

विभिन्न अनुप्रयोगों में ‘सी’ का व्यापक रूप से उपयोग किया जा सकता है। यह एक सरल भाषा है और तेजी से निष्पादन प्रदान करती है। मौजूदा बाजार में ‘सी’ डेवलपर के लिए कई नौकरियां उपलब्ध हैं। आजकी तारिक में आपको बहौत साड़ी नौकरी मिल जायेंगी, और आने वाले समय में भी इसका बहौत यूज़ किआ जायेगा।

अगर C++ आपने सिख ली तो आपको दुसरे कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सिखने में कोई दिक्कत नहीं होगी, सी लैंग्वेज सीखे के बाद आप कंप्यूटर (Computer) के सिस्टम सॉफ्टवेर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेर दोनों बना सकते हो।

आपको बता दें की C++ सबसे basic programing language है। अगर आप computer के programming field में enter करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको C++ सीखना पड़ेगा। अगर आप बिना C++ को सीखे दुसरे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखते हैं।

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (Computer Programming Languages) में C++ लैंग्वेज बहोत ही पोपुलर है और इसका प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल अभी भी कई सॉफ्टवेर बनाने में किया जाता.

C++ कहाँ से और कैसे सीखें?

अगर आपको C++ सीखना है, और और इसकी मदद से काम करना है, तो आप ऑनलाइन भी C++ पढ़ सकते हैं, आपको ऑनलाइन बहौत सारी एसी वेबसाइट और YouTube channel मिल जायेंगे जहाँ से आपको फ्री में C++ सीखने का मौका मिलेगा। आइए आपको कुछ एसी ही वेबसाइट की एक लिस्ट बताते हैं।

w3schools.com FREE
tutorialspoint.com FREE
codecademy.com FREE/PAID
Udemy.com FREE/PAID

इन सब के अलावा अगर आप YouTube पर थोड़ा रिसर्च करेंगे, तो आपको बहौत सारी अच्छी क्लास मिल जायेंगी, जहाँ पर आपको फ्री में C++ के बारे में सब कुछ जानने को मिल जाएगा, और साथ ही आपको इसके बारे में बहौत कुछ सीखने को भी मिलेगा।

सी++ लैंग्वेज का इतिहास ( History of C++ in Hindi )

Bjarne Stroustrup ने C++ language पर 1978 में काम करना शुरू किया और 1979 में इसका पहला वर्शन रिलीज़ किया |  शुरुवात में इनके अनुसार ये कोई नई प्रोग्रामिंग लैंग्वेज नहीं थी इनका कहना था कि ये सी लैंग्वेज का ही एक Extended वर्जन है | 

जब Bjarne Stroustrup ने C++ language में Classes का concept जोड़ा तब इसे उस समय “C With Classes” कहा गया |

Bjarne Stroustrup ने Classes के साथ साथ कुछ और नए कांसेप्ट add किया जिसके चलते 1983 में Bjarne Stroustrup द्वारा बनाये गए लैंग्वेज का नाम C++ पड़ा | 

C++  में ये जो इंक्रीमेंट ऑपरेटर “++” है वो इंडिकेट करता है कि C++ language, सी लैंग्वेज का Extended वर्जन है | 

See also  WBJEE Answer Key 2021 PDF Download- Official Answer Key Released

C++ language को 1998 में ISO committee द्वारा standardized किया गया और सन 2003 में इसका छोटा सा अपडेट रिलीज़ किया गया जिसके चलते इसे C++03 कहा गया | 

2011, 2014, और 2017 में C++ language के नए स्टैण्डर्ड रिलीज़ किया गया जिसके चलते C++ language को C++11, C++14, और  C++17 कहा गया | 

C++ language का हर नया standard एक नए फीचर्स के साथ आता है जो प्रोग्रामर को प्रोग्रामिंग में काफी मदद करता है | 


सी ++ लैंग्वेज की विशेषताएं ( Features of C++ Language In Hindi )

सी++ लैंग्वेज की निम्नलिखित विशेषताएं है -:

  1. Statically typed 
  2. Compiler Based
  3. General Purpose Language
  4. Case Sensitive
  5. Object-oriented Programming

1. Statically typed 

C++ language एक Statically typed प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसमे वेरिएबल के डेटा टाइप को रन टाइम में न चेक करके कंपाइल टाइम में चेक किया जाता  है 

2. Compiler Based

C++ language एक Compiler Based प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसमे प्रोग्राम्स को बिना Compile किये Execute या run नहीं किया जा सकता |

C++ language में बने प्रोग्राम को सबसे पहले Compiler की मदद से मशीन लैंग्वेज में बदला जाता है  फिर उस प्रोग्राम को हम Execute कर सकते है | 

3. General Purpose Language

C++ language एक General Purpose प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसमे हम एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर से लेकर सिस्टम सॉफ्टवेयर तक लगभग सभी तरह के सॉफ्टवेयर बना सकते है | 

4. Case Sensitive

C++  एक Case Sensitive प्रोग्रामिंग लैंग्वेज हैं जिसमे Lower Case letter और Upper Case letter में लिखे गए शब्द का मतलब अलग अलग होता है | 

5. Object-oriented Programming

C++  एक Object-oriented प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसमे चीजों को एक ऑब्जेक्ट मानकर प्रोग्राम बनाया जाता है |


सी ++ लैंग्वेज क्यों सीखें? (Why to Learn C++ in Hindi)

अगर आप एक अच्छे सॉफ्टवेयर engineer बनना चाहते है तो आपको C++ लैंग्वेज जरूर सीखना चाहिए | 

C++ लैंग्वेज के और भी कई सारे फायदे है जिसके बारे में मैंने नीचे बताया है | 

  • C++ लैंग्वेज हार्डवेयर के काफी नजदीक होता है इसकी मदद से हम Low Level प्रोग्रामिंग कर सकते है | C++ लैंग्वेज की मदद से बने प्रोग्राम द्वारा हम मेमोरी मैनेजमेंट बड़े ही आसानी से कर सकते है | 
  • C++ language की मदद से आप ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड कांसेप्ट को बड़े ही आसानी से सिख सकते है | ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड कांसेप्ट आपके आगे की प्रोग्रामिंग यात्रा को आसान बना देता है | 
  • अगर आप C++ language सिख जाते है तो ये आपके कैंपस requirement प्रोसेस में काफी मददगार साबित हो सकता है | अगर आप एक अच्छे C++ सॉफ्टवेयर डेवलपर बन जाते है तो कंपनियां आपको ज्यादा pay करती है | 
  • C++ के द्वारा आप सिस्टम सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर दोनों ही तरह के सॉफ्टवेयर बनाने में सक्षम हो जाते है | 

C++ लैंग्वेज सीखने के ऐसे हजारो फायदे है मगर आप आपको यदि एक अच्छा सॉफ्टवेयर engineer बनना है और आईटी फील्ड में अपना करियर बनाया है तो आपको इसे जरूर सीखना चाहिए | 

टेक्नोलॉजी और प्रोग्रामिंग में ये हैं 7 बेस्ट करियर ऑप्शन, जॉब की गारंटी

गर आप कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो यहां बताए गए कोर्स आपके लिए यूजफुल हो सकते हैं। इन कोर्स को करने के बाद जॉब्स के अच्च्छे मौके मिल सकते हैं। 

1. जावा डेवलपर

जावा डेवलपर बनने के लिए आपमें क्रिएटिव स्किल्स होना बहुत जरूरी है। नए सॉफ्टवेयर बनाने के साथ ही उसको बेहतर से बेहतर फीचर्स से लैस करने का काम जावा डेवलपर का ही होता है। जावा डेवलपर के तौर पर कई बड़े प्रोजेक्टस पर एक साथ काम करना पड़ सकता है साथ ही क्लाइंट्स की हर छोटी-बड़ी रिक्वायरमेंट के अनुसार सॉफ्टवेयर को डेवलप करना और कंपनी के बिजनेस गोल को अचीव करना होता है।

2. C डेवलपर

C लैंग्वेज सबसे पुरानी सॉफ्टवेयर लैंग्वेज में से एक है जिसमें आज भी सबसे ज्यादा काम होता है। यह सबसे ज्यादा डिमांडिंग लैंग्वेज है और इसके प्रोफेशनल्स को अच्छी सैलेरी पर जॉब मिलती है।

3. C++ डेवलपर

C++ डेवलपर  C लैंग्वेज में एक्सपर्ट होते हैं। यह एक हाई लेवल लैंग्वेज है जो C, C# और जावा का लेटेस्ट वर्जन है। इसमें स्किल हासिल करने के बाद कैंडिडेट को अच्छी पैकेज पर जॉब मिलती है।

4. पायथन डेवलपर

पायथन लैंग्वेज आज के दौर की एक डिमांडिंग प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसे कई बड़ी कंपनियां सॉफ्टवेयर डेवलपिंग में यूज करती हैं। इस लैंग्वेज से वेबसाइट डेवलपमेंट, वेब एप और डेस्कटॉप ऐप बनाए जाते हैं।

5. C# डेवलपर

C# आज एक बहुत ज्यादा डिमांडिंग लैंग्वेज हैं जिसके प्रोफेशनल्स को अच्छे पैकेज पर जॉब मिलती है। यह लैंग्वेज परफॉर्मेंस, सिक्युरिटी और टेस्टिंग के मामले में एक बेहतर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में से एक हैं।

6. UI डेवलपर

वेबसाइट को खूबसूरत और अट्रैक्टिव लुक देने का काम यूआई डेवलपर का है। यह वेबसाइट को यूजर फ्रेंडली बनाने का काम करता है, साथ ही यूजर को एक अच्छा अनुभव देने की कोशिश करता है। 

7. GIS एनालिस्ट

जीआईएस एनालिस्ट पॉपुलर कोर्सेस में से एक है जिसमे एनालिस्ट मैप के जरिए अलग-अलग इंफोर्मेशन को डिजिटल फॉर्मेट के साथ मोबाइल एप में दिखाते हैं। जीआईएस टेक्नोलॉजी के जरिए स्कूल , कॉलेज, हॉस्पिटल, सिनेमा हॉल जैसी मुख्य जगहों को मोबाइल एप में डिजिटल फॉर्मेट में दिखाया जा सकता है।

निष्कर्ष ( Conclusion )

मै उम्मीद करता हू की आप लोग C लैंग्वेज यूज़ कहाँ किया जाता है?, ‘C’ लैंग्वेज क्यों सीखें? , C Language कहाँ से और कैसे सीखें? How to learn C Language Online, C++ क्या है? अच्छे से समझ गए होंगे | अगर आप कोई भी Application या Software बनाने चाहते है तो ये आपको अवश्य सीखना चाहिए |

Class dekh ne ke liye appka dhanaywad. Milte hai agali class me. Umeed hai app class ka project zarur pura kare ge.

Thank you

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *