5.Web Hosting क्या है और कहाँ से खरीदें #gutam bhiya done

Table of Contents

आज हम जानेगे, की Web Hosting क्या है? क्योकिं अगर आप ऑनलाइन एक ब्लॉग या वेबसाइट बनाकर पैसे कमाने के बारे मैं सोच रहे है, तो आपको वेब होस्टिंग क्या होती है इसके बारे में जरूर जाना चाहिए।

Agar aapko class achhi lagi toh class join kare

1.वेब होस्टिंग क्या है ( What is Web Hosting in Hindi)

2.वेब होस्टिंग काम कैसे करती है (How Does Web Hosting Work)

3.वेब होस्टिंग के प्रकार (Types of Web Hosting in Hindi)

4.वर्डप्रेस होस्टिंग किसके लिए है?

5.वेब होस्टिंग के फीचर्स क्या होने चाहिए (Web Hosting Features)

6.Where to Buy Web Hosting)

क्योकिं अक्सर नए Bloggers अपनी Website या Blog तो बना लेते है, लेकिन उन्हें यह नहीं पता होता है, की उनकी वेबसाइट के लिए कौन सी होस्टिंग सही है, जिसकी वजह से वह गलत Web Hosting खरीद लेते है, और जैसे जैसे वेबसाइट पर विज़िटर बढ़ते है, तो उनकी होस्टिंग में परेशानियां आना शुरू हो जाती है।

आज आपको इस लेख में होस्टिंग का मतलब क्या होता है (Web Hosting Meaning in Hindi) यह कितने प्रकार की होती है, कहाँ से खरीदनी चाहिए। अगर आपकी वेबसाइट हिंदी में हो तो कौन सी होस्टिंग आपके लिए सबसे Best है, सभी जानकारी आपको इस class में मिलने वाली है।

मुझे पूरी उम्मीद है, की आप अगर इस classको ध्यानपूर्वक dekhege, तो आपको होस्टिंग की जानकारी के लिए किसी और class को पढ़ने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। तो आइये सबसे पहले जानते है, की Web Hosting क्या होता है – join the class Now:

वेब होस्टिंग क्या है ( What is Web Hosting in Hindi)

वेब होस्टिंग एक प्रकार का वेब सर्वर होता है, जो की वेबसाइट को Internet पर जगह प्रदान करता है। जब आप अपनी वेबसाइट को Hosting के साथ Connect कर देते है, तो इससे आपकी वेबसाइट को दुनिया के किसी भी हिस्से में Internet के जरिये देखा जा सकता है।

आपके मन में सवाल आ रहा होगा की यह वेब सर्वर आपकी Website को कैसे जगह प्रदान करता है, तो आपको बता दें, की आपकी वेबसाइट में जितनी भी Images Videos Files आदि Data सेव होता है, वह इसी वेब सर्वर यानी की Hosting में Save होता है।

जिस जगह पर आपका यह सभी Data रहता है, वह कंप्यूटर 24×7 Internet से जुड़ा रहता है, जिसकी वजह से User आपकी वेबसाइट को देख पाते है। Web Hosting सेवा कई कंपनियां प्रदान करती है, जिनमे से कुछ मुख्य इस प्रकार है – Hostinger, Bluehost, GoDaddy, और Hostagator आदि।

इन सभी कंपनियों से होस्टिंग खरीदने के लिए हमें इन्हे पैसे देने होते है, क्योकिं यह जो जगह हमारी वेबसाइट के लिए Provide कराती है, यह एक प्रकार का किराये का घर होता है। जब तक हम इन्हे पैसे देते है, तब तक हमारी वेबसाइट इनके सर्वर में Store रहती है। अगर हम अपनी Hosting को Renew नहीं करते है, तो यह हमारी वेबसाइट को बंद कर देते है।

वेब होस्टिंग काम कैसे करती है (How Does Web Hosting Work)

किसी भी कंपनी या फिर अपनी खुद की Personal वेबसाइट बनाने के लिए हमें उसकी सभी फाइल को Web Hosting पर Upload करना पड़ता है। जब आपकी वेबसाइट होस्टिंग के साथ कनेक्ट हो जाती है, तो जब भी कोई यूजर आपकी वेबसाइट को इंटरनेट ब्राउज़र पर सर्च करता है

अब चाहे वह Google Chrome, Opera, Mozilla या अन्य कोई भी Browser हो तो आपकी वेबसाइट का डोमेन नाम सर्च करने के बाद इंटरनेट आपकी वेबसाइट के डोमेन को उस Web Server से Connect करता है, जहाँ पर आपकी Website की सभी Files अपलोड होती है।

इसके बाद सभी Data यूजर के सामने आ जाता है। अब यूजर जो चाहे आपकी वेबसाइट पर देख सकता है। जब आप अपनी वेबसाइट को Hosting के साथ Connect करते है, तो इसके लिए आपको DNS (Domain Name Syatem) की आवश्यकता पड़ती है, जो की आपको होस्टिंग प्रोवाइडर कंपनी से ही मिलता है। इससे यह पता चल जाता है, की आपकी वेबसाइट को किस वेब सर्वर में रखा गया है, क्योकिं प्रत्येक होस्टिंग का DNS अलग अलग होता है।

वेब होस्टिंग के प्रकार (Types of Web Hosting in Hindi)

अभी तक आपको वेब होस्टिंग के बारे में बहुत सी जानकारियां मिल गयी है। जिसमे आपको यह भी पता चल गया है, की Web Hosting क्या है? लेकिन क्या आपको पता है वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है। आपको बता दे की मुख्यतौर पर वेब होस्टिंग चार प्रकार की होती है, जिसमे Shared Hosting, VPS (Virtual Private Server) Hosting, Dedicated Hosting, और Cloud Hosting शामिल है। आइये जानते है, इन सभी होस्टिंग के बारे में विस्तार से –

  • Shared Hosting
  • VPS (Virtual Private Server) Hosting
  • Dedicated Hosting
  • Cloud Hosting

1. Shared Hosting

Shared Web Hosting ठीक उसी तरह होती है, जिस तरह से एक हॉस्टल या घर में बहुत सारे लोग एक साथ रहते है। इसी तरह से शेयर्ड होस्टिंग में भी एक वेब सर्वर पर हजारो वेबसाइट को Store किया जाता है, इसलिए इसे Shared Hosting कहते है।

Cloud Hosting क्या है? What Is Cloud Hosting in Hindi

अगर आप एक ब्लॉगर है, तो आपको Cloud Hosting क्या है? (Cloud Hosting in Hindi) इसके बारे में जरूर जाना चाहिए। क्लाउड होस्टिंग Web Hosting का ही एक प्रकार है। अगर आप एक Blog या Website बनाने के बारे में सोच रहे है, तो इससे पहले आपको वेब होस्टिंग क्या है इस लेख को पूरा पढ़ना चाहिए। इसके बाद आपको क्लाउड होस्टिंग क्या है? इसके बारे में जानना चाहिए। तभी आपको इससे सम्बंधित सभी जानकारी अच्छी तरह से समझ में आएगी।

इस लेख में हम क्लाउड होस्टिंग के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जानेगे। जिसमे Cloud Hosting Advantages और Disadvantages, क्लाउड होस्टिंग क्या है, कैसे काम करती है, और भी बहुत कुछ जानकारियां इस लेख में शामिल है। तो चलिए सबसे पहले जानते है, Cloud Hosting Kya Hai –

Shared Web Hosting शुरूआती Bloggers के लिए सबसे अच्छी होती है। क्योकिं शुरूआती दिनों में नए ब्लॉगर की वेबसाइट पर ज्यादा ट्रैफिक नहीं आता है, तो उनके लिए यह होस्टिंग अच्छी होती है। इसके साथ ही इसका दूसरा सबसे बड़ा फायदा यह भी होता है, की यह अन्य होस्टिंग की अपेक्षा सस्ती होती है। जब आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ना शुरू हो जाएँ, तो आप Shared Hosting को बदल कर दूसरी होस्टिंग खरीद सकते है।

इसके साथ ही शेयर्ड होस्टिंग सस्ती होने के साथ साथ इसे सेटअप करना बहुत आसान होता है। आपको अपनी वेबसाइट को इस होस्टिंग के साथ कंट्रोल करने में भी किसी तरह की Problem नहीं आएगी। क्योकिं इस होस्टिंग का कंट्रोल पैनल बहुत ही Basic होता है।

See also  What is ethical hacking? How to get paid to break into computersdone #gautam bhaiya done

इसके कुछ फायदे होने के साथ साथ कुछ नुक्सान भी होते है। हालाकिं इतने ज्यादा नुक्सान नहीं लेकिन फिर भी आपको पता होना आवश्यक है, शेयर्ड होस्टिंग में आपको कुछ कंपनियां Support प्रदान नहीं करती है। इसके अलावा कभी कभी आपकी वेबसाइट की Speed ऊपर निचे हो सकती है। शेयर्ड होस्टिंग के साथ आपको अपनी वेबसाइट की Security के लिए कुछ अन्य Plugin का Use करना चाहिए। क्योकिं इसकी Security इतनी ज्यादा बेहतर नहीं होती है।

2. VPS (Virtual Private Server) Hosting

VPS (Virtual Private Server) Hosting शेयर्ड होस्टिंग से बिलकुल अलग होती है। इसमें होस्टिंग कंपनी किसी भी अन्य वेबसाइट को नहीं Connect कर सकती है। यह सिर्फ आपकी होती है। इसकी सिक्योरिटी बहुत मजबूत होती है। इसके अंदर विज़ुअलाइज़ेशन टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है, जो की Server को Virtually अलग अलग हिस्सों में कर देता है। जिसकी वजह से आपकी वेबसाइट को मजबूत सिक्योरिटी प्रदान होती है।

VPS Hosting में प्रत्येक सर्वर के लिए अलग Resource का उपयोग किया जाता है। जिस आपकी वेबसाइट को सिर्फ उतना ही Resource मिलता है, जितनी उसको जरुरत होती है। इससे आपकी वेबसाइट की Speed और Security दोनों बेहतर होती है। लेकिन इस होस्टिंग के Price Shared Hosting से ज्यादा होते है। अगर आप अपने ब्लॉग से Earning कर रहे है, तो आप इस होस्टिंग को खरीद सकते है।

VPS Hosting के बारे में तो आपने जान लिया आपको इसके फायदे के बारे में भी जान लेना चाहिए। आपको बता दें, की VPS Hosting में आपको Dedicated Hosting की तरह फुल Control मिलता है। यह Dedicated Hosting से कम कीमत में आपको मिल जाती है।

यह आपकी वेबसाइट को Best Performance and Security प्रदान करती है। VPS Hosting के किसी भी तरह के कोई नुक्सान नहीं होते है। बस आपको इस होस्टिंग को उपयोग करने के लिए थोड़ी Information का होना आवश्यक है

3. Dedicated Hosting

Dedicated Hosting जैसा की इसके नाम से ही पता चलता है, Dedicated का मतलब होता है समर्पित। ठीक उसी तरह से यह होस्टिंग भी होती है। इस होस्टिंग में सिर्फ एक ही वेबसाइट को होस्ट किया जाता है। इसके किसी दूसरे व्यक्ति की वेबसाइट का कोई भी साझा नहीं होता है।

जिस तरह से शेयर्ड होस्टिंग में बहुत सी वेबसाइट होस्ट होती है, लेकिन Dedicated Hosting उसका पूरा उल्टा है, यहाँ पर पूरी होस्टिंग का सर्वर सिर्फ एक ही वेबसाइट को Run करता है। इस होस्टिंग का Server बहुत Fast काम करता है, लेकिन इसका Price भी बहुत महंगा होता है, क्योकिं इसकी पूरी कीमत एक ही व्यक्ति को भरनी पड़ती है।

यह होस्टिंग उन वेबसाइट के लिए होती है, जिनकी वेबसाइट पर महीने में Millions में Traffic आता है। आमतौर पर Dedicated Hosting का उपयोग E Commerce Website के लिए किया जाता है। जिनमे Flipkart, Myntra, Snapdeal आदि शामिल है।

Dedicated Hosting महंगी तो होती है, लेकिन इसके फायदे भी बहुत होते है। इस होस्टिंग के साथ अगर आप अपनी वेबसाइट को Host करते है, तो आपकी Website पूरी तरह से Secure होती है। आप अपनी Website के Server को पूरी तरह से Control कर सकते है। इस होस्टिंग का Use करने के लिए आपको थोड़ी सी Techbical Knowledge का होना जरुरी है।

4. Cloud Hosting

Cloud Hosting कई Multiple Remote Servers के साथ कार्य करती है। जिसमे प्रत्येक Server की अपनी Responsibilities होती है। अगर कोई भी सर्वर धीरे कार्य करता है, तो यह वेबसाइट को अन्य सर्वर के साथ कनेक्ट कर देता है। अगर आप अपनी वेबसाइट को क्लाउड सर्वर पर Host करते है, तो आपकी वेबसाइट की स्पीड और Performance दोनों चीजे बहुत Best हो जाते है। यह अन्य Hosting की अपेक्षा महंगी होती है।

Cloud Hosting का सर्वर बहुत Secure होता है। इसका Sever कभी भी Down नहीं होता है। इस होस्टिंग पर आप ज्यादा से ज्यादा Traffic वाली वेबसाइट को भी Add कर सकते हो। यह ज्यादा से ज्यादा Traffic को भी आसानी से संभाल लेती है।

Web Hosting के कुछ अन्य प्रकार

जैसा की आपको ऊपर बताया गया है, की Web Hosting चार प्रकार की होती है, लेकिन इसके अलावा और भी कई कंपनिया है, जो वेब होस्टिंग प्रदान करती है, जो की इस प्रकार है। इन होस्टिंग को हम होस्टिंग के प्रकार भी कह सकते है।

WordPress Hosting

वर्डप्रेस एक प्रकार का CMS (Content Management System Software) है, जो की होस्टिंग भी Provide कराता है, यह आपको दो प्रकार की होस्टिंग प्रदान करता है, जिसमे Shared WordPress Hosting, Managed WordPress Hosting शामिल है।

शेयर्ड वर्डप्रेस हूटिंग सामान्य होस्टिंग की तरह कार्य करती है, जभी Managed WordPress Hosting आपकी वेबसाइट को Best Performance और कई प्रकारी की बेहतर सुविधा देती है। जिसमे आपकी वेबसाइट की सुरक्षा का भी विशेष ध्यान रखा जाता है। agar आप वर्डप्रेस होस्टिंग खरीदना चाहते है, इसमें आपको कुछ ऐसे प्लान भी मिल जाते है, जिन्हे आप One Click Installation के साथ खरीद सकते है।

WordPress Hosting को आमतौर पर वर्डप्रेस पर चलने वाली वेबसाइट के लिए तैयार किया गया है, यह आपकी वेबसाइट को Best Security प्रदान करती है। क्योकिं वर्डप्रेस एक प्रकार का CMS है, जिस पर आपकी वेबसाइट का Data रहता है। इसकी बेहतर सुरक्षा के लिए आपको एक अच्छी होस्टिंग लेना बहुत जरुरी है। ऐसे में आप वर्डप्रेस होस्टिंग का Use भी कर सकते है, हालाकिं यह थोड़ी महंगी होती है।

वर्डप्रेस होस्टिंग किसके लिए है?

कुछ लोगो के मन में चल रहा होगा की यह वर्डप्रेस होस्टिंग है, तो इसे वही लोग Use कर सकते है, जिनकी वेबसाइट वर्डप्रेस पर है। लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है, अगर आपकी वेबसाइट किसी और CMS पर है, तब भी आप Best Performance और Best Security के लिए अपनी वेबसाइट को WordPress Hosting पर Host कर सकते है।

आप वर्डप्रेस होस्टिंग के प्लान WP Engine की वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते है। अगर आप एक शुरूआती ब्लॉगर है, तो आपको लगता है, की आप बहुत जल्द अपनी वेबसाइट पर अच्छा ट्रैफिक ला सकते है। तो आपके लिए वर्डप्रेस होस्टिंग एक बेहतर विकल्प है। इसके बाद आपको अपनी वेबसाइट की Security और Performance के बारे में चिंता करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है।

इसकी सबसे अच्छी बात यह है, की WP Engine में आपको 24/7 लाइव चैट Support मिलती है। अगर कभी भी आपको लगता है, की आपकी वेबसाइट में किसी तरह की समस्यां आ रही है, तो आप तुरंत Live Chat के माध्यम से हेल्प ले सकते है।

Reseller Hosting

Reseller Hosting एक प्रकार से होस्टिंग बेचना होता है। हालाकिं यह सभी के लिए नहीं है, लेकिन अगर आप एक वेबसाइट को खुद से तैयार करते है, तो आपको किसी और होस्टिंग को देखने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

Reseller Hosting एक प्रकार की White Label Web Hosting है। जिसे आप एक होस्टिंग Provider से खरीदते है, फिर उसे अपने ग्राहकों को बेचते है। बहुत से लोग Reseller Hosting खरीद कर अपने Customers को Sale करते है।

आप इस होस्टिंग के जरिये अच्छी Online Earning कर सकते है। क्योकिं जब आप Hosting Provider से Reseller Hosting खरीदते है, तो वहां पर आप थोक की दर से पैसे देते है। इसके बाद आप अपने ग्राहक को बेचते समय अच्छा खासा Commission ले सकते है।

Reseller Hosting किसके लिए सही है?

आमतौर पर Reseller Hosting का उपयोग Digital Marketing एजेंसियों, वेब डेवलपर्स, और वेब डिज़ाइनरों के लिए होती है। क्योकिं यह कंपनियों को वेबसाइट बनाकर देते है, जिसमे यह उन सभी कंपनियों की वेबसाइट को अपनी होस्टिंग पर होस्ट करते है। इनके पास सभी कंपनियों की वेबसाइट ज्यादातर Reseller Hosting पर ही Host होती है।

अगर आप एक Web Developer या फिर किसी कंपनी के लिए वेबसाइट बनाते है, तो Reseller Hosting के बारे में सोच सकते है। Reseller Hosting खरीदने से पहले एक बात का विशेष ध्यान रखे, की आपके पास कम से कम 10 वेबसाइट होनी चाहिए। तभी आपको यहाँ से कुछ अच्छा Commission मिल सकता है।

वेब होस्टिंग के फीचर्स क्या होने चाहिए (Web Hosting Features)

जब भी आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए एक होस्टिंग खरीदते है, तो निचे दिए गए कुछ Web Hosting Features का जरूर ध्यान रखे। यह सभी Web Hosting Features प्लान के और Web Hosting Company के अनुसार अलग अलग होते है। लेकिन निचे बताये गए सभी फीचर्स आपको Basic Plant में भी मिलते है।

See also  Employee Health Insurance Scheme Application Form 2021: Enrollment

1. Disk Space / Storage

वेब होस्टिंग खरीदते समय आपको Disk Space / Storage का विशेष ध्यान रखना चाहिए। यह आपके डाटा के लिए होस्टिंग पर लिया गया एक सर्वर होता है। आप जो भी Data अपनी वेबसाइट पर अपलोड करते है, वह सभी होस्टिंग की Storage में Save रहता है। जब भी कोई विज़िटर आपकी वेबसाइट पर आकर कुछ सर्च करता है, तो वह सके सामने सर्च रिजल्ट में आ जाता है। होस्टिंग खरीदते समय स्टोरेज का विशेष ध्यान रखे। हमेशा थोड़ी ज्यादा Storage की Hosting Buy करे।

2. Bandwidth

Bandwidth वेबसाइट पर आये विज़िटर के बिच में ट्रांसफर Data की समय सीमा को बताता है। अगर आपने होस्टिंग खरीदते समय Low Bandwidth का चुनाव किया है, तो यह आपकी वेबसाइट पर अधिक विज़िटर को नहीं हैंडल कर सकता है। जब भी आपकी वेबसाइट पर ज्यादा विज़िटर आ जाते है, तो आपकी वेबसाइट की स्पीड कम हो सकती है। वही अगर आप High Bandwidth का चुनाव करते है, तो यह आपके वेबसाइट पर आये सभी Visitor को हैंडल कर सकता है। जिससे Website की Speed पर भी किसी तरह का कोई असर नहीं पड़ेगा।

3. Uptime

Uptime प्रत्येक होस्टिंग Provider कम्पनी देती है। जो की एक महत्वपूर्ण फीचर्स में से एक है। Uptime का मतलब होता है, की आपकी वेबसाइट 99.9% के समय तक विज़िटर के लिए उपलब्ध रहेगी। सभी होस्टिंग कंपनियां Guaranteed Uptime का दावा करती है। कुछ Hosting Company 24 x 7 Support भी देती है।

4. Control Panel Features

होस्टिंग का कंट्रोल पैनल यूजर फ्रेंडली होना बहुत आवश्यक है। क्योकिं अगर आपकी एक वेबसाइट है, तो उसमे आपको सबसे ज्यादा काम Control Panel का पड़ता है। जिसमे आपको Web Page Upload करना, Domain और Subdomain को Manage करना आदि। वेबसाइट को स्पैम से बचाना आदि सभी कार्य Control Panel द्वारा ही किये जाते है।

5. Email

जिस होस्टिंग कंपनी से आप होस्टिंग Buy करते है, उससे आप Email Hosting भी खरीद सकते है। यह आपकी कंपनी का Custom Email Address बनाने के बहुत काम आती है। जिससे आपका सभी कार्य प्रोफ़ेशनल हो जाता है। इसमें आपको कई Extra Features भी मिल जाते है।

6. Backups

Web Hosting खरीदते समय इस बात का विशेष ध्यान रखे की होस्टिंग प्रोवाइडर आपको Backups का Option दे रहा है या नहीं। क्योकिं कभी कभी आपकी Website में कुछ Problem हो जाती है। जिसकी वजह से आपको पूरी वेबसाइट Delete करनी पड़ती है। अगर आपके पास Backups सुविधा है, तो आप फिर से अपनी वेबसाइट को Restore कर सकते है।

7. Customer Support

Web Hosting खरीदने से पहले Customer Support के बारे में भी पूरी जानकारी लेना बहुत महत्पूर्ण है। क्योकिं कई बार जब हमारी होस्टिंग में कोई समस्या आ जाती है, तो वह हमें होस्टिंग कंपनी के Customer Executive से ठीक करनी होती है। क्योकिं उनके पास बहुत सारे राइट्स होते है। जो बहुत ही कम समय में आपकी समस्या को हल कर देते है। तो आपको हमेशा होस्टिंग खरीदने से पहले कंपनी की Customer Support कैसी है, यह देखना बहुत जरुरी है।

वेब होस्टिंग कहाँ से

खरीदें (Where to Buy Web Hosting)

इंटरनेट पर कई Best Hosting Provider Company मौजूद है। जहाँ पर जाकर आप अपनी जरुरत और अपनी वेबसाइट के Traffic के अनुसार Hosting Plan को चुन कर होस्टिंग खरीद सकते है। आपको होस्टिंग खरीदने के लिए Credit Card या Visa Card की आवश्यकता पड़ती है।

लेकिन अगर आप अपनी वेबसाइट के लिए किसी India की कंपनी से Hosting Buy करते है, इसके लिए आपको Credit Card की आवश्यकता नहीं है। इन सभी कंपनी से आप RuPay या UPI के माध्यम से Payment कर सकते है। होस्टिंग खरीदने के बाद आप अपने डोमेन को होस्टिंग के साथ Connect करके अपनी वेबसाइट को Customize कर सकते है।

अगर आप India से है, और एक Hindi Blog बनाना चाहते है, तो निचे दी गयी कुछ विश्वनीय कंपनियों से होस्टिंग खरीद सकते है। जो की इस प्रकार है –

  • Hostgator India
  • BigRock
  • BlueHost
  • Godaddy

Linux vs Windows Web Hosting in Hindi

जब हम वेब होस्टिंग खरीदते है, तो हमारे सामने दो Option आते है, जिसमे एक Windows और दूसरा Linux लेकिन क्या आपको पता है, की Linux और Windows होस्टिंग में क्या अंतर है। अगर नहीं तो आपको बता दें, की लिनक्स एक Open Source Operating System है, जिसके लिए होस्टिंग कंपनी को किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं देना पड़ता है।

वही अगर हम Windows Hosting की बात करे तो यह एक License Company है। जिसके लिए कंपनी को पैसे देने पड़ते है। लेकिन यह लिनक्स से बहुत Fast होती है। लेकिन आमतौर पर इंटरनेट पर उपलब्ध ज्यादातर वेबसाइट Linux Server पर ही Host होती है, क्योकिं यह Windows Hosting की अपेक्षा सस्ता होता है।

Cloud Hosting क्या है? What Is Cloud Hosting in Hindi

Cloud Web Hosting एक प्रकार का वेब सर्वर होता है, जिसके अंतर्गत आपकी वेबसाइट का Data अलग अलग Server पर स्टोर रहता है। यह होस्टिंग सामान्य होस्टिंग से अलग होती है, क्योकिं जब आप क्लाउड होस्टिंग पर अपनी वेबसाइट को Host करते है, तो यह आपके सभी Data को अलग अलग Servers के Resources का उपयोग करके एक प्रकार का Virtual Sever बना देता है। जब यह सभी Servers एक जगह पर मिलते है, तब जाकर एक Cloud Server बनकर तैयार होता है। जिसे Cloud Hosting कहते है।

अगर हम Shared Hosting की बात करें, जो की आमतौर पर शुरूआती Bloggers के लिए एक अच्छा विकल्प माना जाता है। तो इस होस्टिंग में आपका Data एक Single Server पर Store होता है। जब भी आपकी वेबसाइट पर किसी तरह का Load पड़ता है, तो यह Server Down हो जाता है। तो इससे वेबसाइट की स्पीड कम हो जाती है। अगर आपकी Website पर ज्यादा Traffic आता है, तो ऐसे में आपको Cloud Hosting का Use करना चाहिए।

Cloud Hosting कैसे काम करती है?

क्लाउड होस्टिंग पर हमारी पूरी वेबसाइट की Information एक Virtual Servers पर Store होती है, जो की कई अलग अलग सर्वर से मिलकर बना होता है, जैसा की आपको ऊपर बताया गया है। जब हमारी वेबसाइट पर किसी भी प्रकार का ज्यादा Load पड़ता है, और एक सर्वर डाउन हो जाता है, या फिर किसी वजह से बंद हो जाता है। तो Cloud Server आपकी वेबसाइट के सभी डाटा को दूसरे सर्वर पर Transfer कर देता है, जिसकी वजह से Website को किसी भी तरह का नुकसान नहीं होता है, और यह हमेशा Activate रहती है।

क्लाउड होस्टिंग के फायदे (Cloud Hosting Advantages)

1. Uptime

Cloud Hosting में आपको High Uptime की सुविधा मिलती है। जो की कई Virtual Server को एक साथ Use करके आपकी वेबसाइट को High Uptime प्रदान करता है। इसके अलावा कभी कभी वेबसाइट पर अचानक ज्यादा ट्रैफिक आने की वजह से वेबसाइट Down हो जाती है, तो Cloud Server आपको इन परेशानियों से भी बचता है। इससे आपकी वेबसाइट कभी भी Down नहीं होती है।

2. Store Unlimited Data

क्लाउड होस्टिंग का सबसे बड़ा फायदा यह होता है, की यहाँ पर आपको Unlimited Space मिलता है। आप यहाँ पर जितना चाहे Data स्टोर कर सकते है। इसमें आपको कभी भी Space से सम्बंधित की भी प्रकार की Problem नहीं आती है।

3. Backup

Cloud Computing Hosting में आपको Backup Restore करने की बहुत अच्छी सुविधा मिलती है। अगर कभी भी आपकी वेबसाइट का Data Loss हो जाता है, तो यहाँ से आप अपने Data को किसी भी समय Restore कर सकते है।

4. Server Safety

Cloud Web Hosting की Server Security बहुत Strong होती है। यहाँ पर आपकी वेबसाइट सभी तरह के Malware से सुरक्षित रहती है। अगर सर्वर को लगता है, की आपकी वेबसाइट में किसी भी तरह के Malware को भेजा जा रहा और आपकी वेबसाइट डाउन हो रही है, तो ऐसे में यह आपकी वेबसाइट को दूसरे सर्वर के साथ Connect कर देता है। और Website पूरी तरह से Secure रहती है

5. Best Website Performance

आमतौर पर सभी Cloud Servers अपनी Best Performance के लिए जाने जाते है। यह आपकी वेबसाइट की Speed को कई गुना बड़ा देता है। इसके अलावा यह आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर आने वाले Unexpected Traffic से Website को Down होने से बचता है।

6. Best Pricing

Cloud Web Hosting के अलावा अगर हम अन्य Hosting की बात करें, तो हमें उसमे पुरे पैसे देने पड़ते है, चाहे हम उसका Space Use करे या ना करें। लेकिन क्लाउड होस्टिंग में आपको सिर्फ उतना ही Pay करना पड़ता है, जितने Resources आप Use कर रहे है। यह भी Cloud Hosting का एक अच्छा Benefits है। तो उम्मीद है, आपको क्लाउड होस्टिंग के फायदे (Benefits of Cloud Hosting) के बारे में जानकार बहुत अच्छा लगा होगा।

क्लाउड होस्टिंग के नुक्सान (Cloud Hosting Disadvantages)

1. Hosting Price

आपको बताया गया है, की Cloud Hosting कीमत के हिसाब से भी बहुत अच्छी है, लेकिन अगर आप एक New Blogger हो तो आपके लिए यह महंगी है। आप शुरुआत में Shared Hosting का Use कर सकते है। जब आपके Blog या Website से कुछ Online Earning शुरू हो जाए और Traffic बढ़ने लगे, तो आप Cloud Hosting पर जा सकते है।

2. Internet Connection Requried

Cloud Hosting को Access करने के लिए आपके पास Intenrnet कनेक्शन होना बहुत जरुरी है। बिना इंटरनेट के इसे Access नहीं किया जा सकता है।

3. Privacy Protection

क्लाउड होस्टिंग या फिर कोई भी अन्य होस्टिंग का उपयोग करते समय आपको Security का ख्याल रखना चाहिए। जब भी आप किसी होस्टिंग Panel पर अपना Account बनाते है, तो Password हमेशा Strong रखें। अगर आपका पासवर्ड Weak है, तो आपकी Hosting को कोई भी Access कर सकता है, और वेबसाइट में Malware डाल सकता है।

4. High Speed Internet Connection

अगर आप अपने Cloud Hosting Panel में कुछ Upload करना चाहते है, तो इसके लिए आपको एक High Speed Internet Connection की आवश्यकता होती है।

Cloud में अपने Data को कैसे सुरक्षित रखें (How to Secure Data in Cloud)

ज्यादातर लोग आज के समय में किसी ना किसी तरह से Cloud का उपयोग कर रहे है। लेकिन आमतौर पर लोगो जब अपने Data को Cloud पर Upload करते है, तो वह Data Security को लेकर ज्यादा ध्यान नहीं देते है। जिसकी वजह से वह कभी ना कभी अपने Data को खो देते है। ऐसे में अगर आप भी Cloud का Use करते है, तो आपको इसके बारे में जरूर जाना चाहिए, की क्लाउड पर अपने डाटा को कैसे सुरखित रखा जा सकता है –

1. User Agreements को जरूर पढ़ें

जब भी आप किसी Cloud Service को खरीदने के लिए जा रहे है। तो थोड़ा सा समय निकाल कर उनकी User Agreements Guide को जरूर पढ़ें। अगर आप इसे पढ़े बिना ही साइन अप कर लेते है, तो इसके बाद आप इसके खुद जिम्मेदार होंगे। क्योकिं यह एक प्रकार का Agreement होता है। जिसे आप Account Create करने से पहले Accept करते है। अगर आपको लगता है, की इस User Agreements में आपको सभी चीजे आपकी जरुरत के अनुसार मिल रही है, तो आप आगे बढ़ सकते है।

2. Set Up Your Privacy Settings

जब आप अपनी Cloud Service को खरीद या साइन अप कर लेते है। तो इसके बढ़ आपको Privacy Settings को Configure करना बहुत जरुरी है। जिसकी वजह से Cloud से जुड़ी हुई किसी भी अन्य App की मदद से आपका Data किसी और के पास नहीं जा सकता है। इसके बढ़ आप प्रत्येक सफ्ताह में अपनी Privacy Settings की जांच करते रहे। जिससे आपको यह पता चलता रहेगा की Configuration में किसी तरह की कोई समस्या तो नहीं आ रही है।

3. Strong Passwords लगाए

जब भी कोई Account किसी कारण से जानकारी को खोता है, तो उसका सबसे पहला Point होता है, कमजोर पासवर्ड। आपको हमेशा अपने Account में एक Strong Password का उपयोग करना है। आमतौर पर ज्यादातर लोग अपने Account में अपना नाम, जन्मतिथि, या फिर अपने घर का नाम, आदि जैसे Password का Use करते है। लेकिन आपको इन सभी चीजों से बचना चाहिए। आपको अपने सभी Personal Account जिनमे आपकी निजी जानकारी मौजूद है, उसमे कम से कम 15 शब्दों के Password का Use करना चाहिए। Password बनाने के लिए आप Online Password Generator Tool का उपयोग कर सकते है। यह आपको एक Strong Password बनाकर देता है।

4. Two-Factor Authentication को हमेशा On रखें

अगर आपके पास ऐसा कोई भी Account है, जिसमे आपकी Personal चीजे है, चाहे वह Cloud Hosting Panel हो या फिर किसी और चीज का Panel आपको उसमे Two-Factor Authentication को हमेशा On रखना चाहिए। इससे अगर कोई भी आपके Account को खोलने की कोशिश करेगा तो उसे Password के अलावा OTP नंबर भी डालना पड़ेगा। जो की बिलकुल सुरक्षित तरीका है।

5. Personal Information को किसी के साथ Share ना करें

कुछ लोग आप से Online बात करते है, जो की आपके सोशल अकाउंट को कही ना कही से ढूंढ लेते है। जिसके बढ़ वह आप से आपकी कुछ Personal Information जानने की कोशिश करते है। लेकिन आपको किसी भी तरह की अपनी पर्सनल जानकारी ऐसे किसी भी व्यक्ति को नहीं देनी चाहिए। जो की आपका हाल ही में दोस्त बना है। क्योकिं ऐसे में हो सकता है, की वह व्यक्ति आपके साथ किसी तरह का साइबर क्राइम कर दे।

6. Strong Anti-Malware Protection

क्लाउड सर्वर इंटरनेट पर जानकारी प्रदान करता है। इसलिए जब भी आप अपने Cloud Panel को अपने किसी कंप्यूटर, लैपटॉप, या स्मार्टफोन आदि में खोले तो उसमे आपको एक अच्छे Antivirus या Anti-Malware Protection का उपयोग करना चाहिए। जो की ऐसे सभी Url को आपके कंप्यूटर में ब्लॉक कर देता है, जो की Malware से भरे होते है। जो आपकी डिवाइस के लिए सुरक्षित नहीं होते है।

7. अपने Operating System को हमेशा Update रखें

जब भी आपके ऑपरेटिंग सिस्टम में किसी भी तरह का अपडेट आता है, तो तुरंत आपको उसे अपडेट कर लेना चाहिए। यह आपके कम्प्यूटर की सुरक्षा को बढ़ाता है। आपके ऑपरेटिंग सिस्टम में आने वाले सभी अपडेट बहुत महत्वपूर्ण होते है, यह सिस्टम में मौजूद बग को ठीक करने के लिए किये जाते है। जिससे की सिस्टम को किसी भी तरह का नुक्सान ना हो।

8. Public Wi-Fi का उपयोग बहुत सोच समझ कर करें

अगर आप कभी कही बहार गए है, और किसी सार्वजानिक Wi Fi का उपयोग करके अपने Cloud Panel को खोलने की कोशिश कर रहे है, तो ऐसे में आपको सतर्क रहने की आवश्यकता है। क्योकिं आमतौर पर इस तरह की Wi Fi से आपके System में Malware आने का खतरा बना रहता है। अगर आपको नहीं पता है, की जो Wi Fi आपके फ़ोन या Laptop से Connect है, वो किसकी है। तब तक अपने फ़ोन और लैपटॉप की वाई-फाई को बंद रखे है। अगर फिर भी आपको सार्वजानिक वाई-फाई का Use करना है, तो इसके लिए आपको VPN का उपयोग करना चाहिए। इससे आपका Data पूरी तरह से Secure रहेगा।

क्लाउड होस्टिंग के बारे अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

क्लाउड होस्टिंग क्या है और यह कैसे काम करती है?

Cloud Hosting वेबसाइट और एप्लीकेशन को Cloud Resources का Use करके उनके उपयोग को आसान बनाता है। सामान्य होस्टिंग की तरह क्लाउड सर्वर के Resources एक Server पर नहीं होते है। बल्कि यह कई Connected Virtual and Physical Cloud Servers पर मौजूद होते है, जो की वेबसाइट के Performance को बेहतर बनाते है।

क्या क्लाउड होस्टिंग एक सर्वर है?

क्लाउड सर्वर एक प्रकार का Cloud Computing में चलने वाला एक Virtual Server है। जो की इंटरनेट के माध्यम से Cloud Computing Platform से बना हुआ है। इसे कही से भी Access किया जा सकता है। इसके अलावा क्लाउड को वर्चुअल सर्वर के रूप में भी जाना जाता है।

Cloud Hosting में और Shared Hosting में क्या अंतर है?

Cloud Hosting और Shared Hosting में यह अंतर होता है, की क्लाउड होस्टिंग में आपकी वेबसाइट बहुत सारे सर्वर पर होस्ट होती है। और Shared Hosting में आपकी वेबसाइट एक ही सर्वर पर होस्ट होती है। उस सर्वर पर आपकी वेबसाइट के अलावा और भी कई वेबसाइट होस्ट होती है।

क्या Cloud Hosting Dedicated Hosting से सस्ती है?

Cloud Hosting आमतौर पर Dedicated Hosting से सस्ती होती है। हालाकिं कई ऐसे Resources है, जिनके साथ हम इन दोनों होस्टिंग को खरीदते है, तो इनकी कीमत महंगी हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *