यहाँ हम जानेंगे की आकिर ये Ransomware काम कैसे करता हैं.#khush done

hello guys aaj ki class me ham sikhne wale h ki यहाँ हम जानेंगे की आकिर ये Ransomware काम कैसे करता हैं. to start krte h

ham pahle is class ka ek overview dek lete h to ham padne wale h ki

Aur bhi bahut kuch … toh class mein end tak bane rhe

to let’s start it

यहाँ हम जानेंगे की आकिर ये Ransomware काम कैसे करता हैं.

  • सबसे पहले जिसे target किया गया होता है उसे एक email आता है जिसमे एक malicious लिंक छुपा होता है, और यदि वह user उस लिंक को खोल दे तब एक छोटा सा प्रोग्राम automatically download हो जाता है.
  • दूसरा तरीका है की यदि user कोई malicious website view कर रहा हो और कोई ऐसी चीज़ download करे जिसके बारे में उसे कोई जानकारी न हो तब भी वहां से Ransomware आपके system में प्रबेश कर सकता है.
  • जिस downloader से user उस program को download किया हुआ होता है वह program कुछ इस प्रकार से डिजाईन किया गया होता है की वह एक लिस्ट of Domains or C&C Servers को request भेजता है ताकि कोई advanced Ransomware program download कर सके.
  • इसके बाद contact किये गए C&C Servers respond करते हैं और मांगी गयी चीज़ें भेजते हैं.
  • इसके बाद वह malware अपना काम शुरू कर देता है और पुरे disk को encrypt कर देता है जैसे की personal files, आपके कुछ sensitive information और बहुत कुछ.
  • और screen में एक pop up show करवाते हैं की आपके data को लॉक कर दिया गया है और इसे खोलने के लिए एक Decryption Key की जरुरत है जिसे पैसे के बदले में पाया जा सकते है.

और इसी तरह से ये अपना control आपके system के ऊपर जाहिर करते हैं, और आप कुछ भी नहीं कर सकते.

क्यूँ ये हमेशा से रहेगा

मेरा यह मानना की यह चीज़ Ransomware हमेशा से रहेगा ऐसा इसलिए क्योंकि यह दिन प्रतिदिन खुद को बदल रहा है और इसे ज्यादा ताकतवर बनाया जा रहा है. जो Cyber Criminal खुद को famous करना चाहते हैं अपने मेहनत से ये उनके लिए एक बहुत ही सुनहरा मौका है. और तो और ये एक Business Model बन गया है जिससे की बहुत सारे पैसे कमाया जा सकता है.

  • Ransomware एक service के तरह काम कर रहा है जहाँ इसके creators पैसे कमाते हैं ऐसी प्रोग्राम बनाने के बदले में.
  • जो पैसे के लेन देन हो रही है वो Crypto currency (Bitcoin) से हो रही है जिससे की उनको पकड़ पाना लगभग नामुमकिन ही है.
  • सभी Software Program में कुछ न कुछ कमियाँ तो होती ही है इसलिए ये attackers उन्ही कमियों का इस्तमाल करते हैं और ऐसे program बनाते हैं जिससे की ये अच्छी खासी पैसे कमा सकें.
  • इस प्रकार के attack को काफी हद तक रोका जा सकते है यदि हम थोडा सतर्क हो जाएँ तब लेकिन ज्यादातर लोग malicious website से download करना या कोई Spam email को खोलना नहीं बंद करते और इसलिए ये शायद मुमकिन नहीं है.

इनके मुख्य शिकार कौन है ?

इनके मुक्ये शिकार की बात की जाये तो ये आम तोर से बड़े बड़े institution को target करते हैं ताकि उनसे ज्यादा से ज्यादा पैसे लुट सकें. पहले तो ये आम लोगों को टारगेट किया करते थे लेकिन ज्यादातर लोगों से पैसे लेने में इनको दिक्कत हुई और ज्यादा समय भी व्यतीत हुआ. तभी इन लोगों ने सोचा की क्यूँ न कम समय में ज्यादा कमा लें. ऐसा करने से ये बहुत ही कम समय में बहुत सारा कमा सकते हैं.

बड़े बड़े Government Agency को टारगेट करने से इनको बहुत फ़ायदा है जैसे की इन्हें उन database से बहुत सारे लोगों की जानकारी हासिल हो जाएगी और तो और बहुत सी confidential Information भी मिल जाएगी.

और ये आसान क्यूँ है :

  • Government Agency बहुत ही पुराने और outdated software का इस्तमाल करते हैं.
  • ज्यादातर control किसी ऐसे के पास होता है जिसे Internet Security के बारे में कुछ भी पता नहीं होता.
  • यहाँ staffs भी ज्यादा Cyber Attacks के बारे में trained नहीं होती. और यहाँ इन्हें आसानी से loopholes मिल जाते हैं.

नोट: Ransomware Platform independent होते हैं जिसका मतलब है की ये किसी भी system को attack कर सकते हैं जैसे किसी Computer, Mobile, tablet या कोई Server.

Ransomware फैलने के तरीके

यहाँ हम जानेंगे की की कैसे बड़ी आसानी से ये attackers इन malwares को हमारे system में डाल देते हैं.

  • Spam Emails जिसमे की मुख्यतः कुछ Attachment होते हैं जिसे खोलने से ये program download हो जाते हैं.
  • Vulnerable Software को इस्तमाल करने से जिनका कोई Signature नहीं होता.
  • Internet में ऐसी Malicious Websites को visit करने से जो की पहले से ही infected हों.
  • Malvertising Campaigns
  • Unauthorized Apps download करने से mobile में ये प्रबेश कर लेते हैं.
  • Self Propagation इसका मतलब है की यदि कोई computer पहले से ही infected हो तब यदि कोई दूसरा system या कोई नेटवर्क भी इसके संपर्क में आएगा तो वो भी infect हो सकता है.

कैसे बचें Ransomware से कुछ आसान तरीके (How to Prevent Ransomware Attacks)

1. अपने Personal Computer में

  • अपने महत्वपूर्ण data को PC में न रखें
  • यथा संभव अपने data की backup रखें online और offline दोनों में
  • Online Backup को हमेशा turned on by default न करें, जब इस्तमाल करें तभी इसे on करें. दिन में एक बार अपने data को sync कर दें.
  • हमेशा अपने software को update रखें, यहाँ तक की latest Security Updates का इस्तमाल करें.
  • Outdated softwares और plugins का इस्तमाल न करें.
  • Ad-Blocker का इस्तमाल करें अनचाही Malicious Ads से बचने के लिए.
See also  What Is Marketing?#khush done

2. Online Behavior

  • किसी भी अपरिचित sender से आया हुआ email open न करें.
  • Spam Emails के attachment download न करें.
  • Malicious Website के links को click न करें.
  • हमेशा अच्छे AntiVirus Program का इस्तमाल करें और उसे समय समय पे update करें.

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को Ransomware क्या है (What is Ransomware in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को इस नए Cyber Threat के बारे में समज आ गया होगा. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की आप हमेशा सुरक्षित रहें और एक बात हमेशा ये याद रखें की सबसे अच्छी protection of data है Backup. अपने data को backup करना कभी न भूलें.

मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने readers या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं. मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा. आपको यह लेख Ransomware क्या है (What is Ransomware in Hindi) कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और

Malware क्या है?

Malware एक तरह का कंप्यूटर सॉफ्टवेयर ही होता है जिसे हम Malicious Software भी कहते हैा यह एक तरह का दूषित सॉफ्टवेयर होता है जिसका एक ही मकसद होता है लोगो के कंप्यूटर को नुक्सान पहुचाना. malware को बनाया ही इसी मकसद के साथ जाता है की यह हमारे या किसी स्पेसिफिक यूजर के कंप्यूटर को नुक्सान पहुचाये इसके और भी कई मकसद हो सकते हैं जैसे आपका डाटा चुराना, आपका पासवर्ड चुराना, या आपके कंप्यूटर के डाटा को मिटाना यानी डिलीट कर देना. Malicious Software अपने आप नहीं बनते इनको किसी डेवलपर या हैकर द्वारा ही बनाया जाता है, जिससे वो हमारे कंप्यूटर को हानि पंहुचा सके।
Malicious Software आपके कंप्यूटर में कई तरीको से आ सकते हैं जैसे या तो आप खुद ही उन्हें गलती से डाउनलोड कर ले या किसी स्पैम ईमेल के जरिये या किसी वेबसाइट के जरिये. क्यूंकि ऐसी कई वेबसाइट हैं जिन पर malicious सॉफ्टवेयर की लिंक उपलब्ध है और एक ही दिन में लोगों को ढेरों स्पैम ईमेल आते हैं इनमे से कितने ही लोग malware डाउनलोड भी कर लेते हैं और इनका शिकार हो जाते है।

Spyware (स्पाईवेयर)

Spyware का काम होता है आपके द्वारा अपने कंप्यूटर में की गयी सभी एक्टिविटीज और डाटा पर नज़र रखना और उन्हें किसी और के पास भेजना होता है बिलकुल एक जासूस की तरह यह किसी भी अनजान सॉफ्टवेयर के साथ bind हो कर इनस्टॉल हो सकते हैं क्यूंकि ये बहुत ही छोटे होते है। Spyware को किसी ख़ास व्यक्ति, जगह या किसी ख़ास कंप्यूटर को टारगेट करके बनाया जाता है और इसका काम सिर्फ आपके डाटा पर नज़र रखना होता है।

Adware (ऐडवेयर)

What is Adware? in Hindi

एडवेयर मुफ्त सॉफ्टवेयर है जो विज्ञापनों द्वारा समर्थित है। सामान्य एडवेयर प्रोग्राम टूलबार होते हैं जो आपके डेस्कटॉप पर बैठते हैं या आपके वेब ब्राउजर के साथ मिलकर काम करते हैं। इनमें Web advanced Search या आपके हार्ड ड्राइव और आपके बुकमार्क और शॉर्टकट के बेहतर Organization जैसी विशेषताएं शामिल हैं। Adware भी अधिक Advanced Program जैसे खेल या उपयोगिताओं हो सकता है। वे उपयोग करने के लिए स्वतंत्र हैं, लेकिन जब तक Program खुले हैं, तब तक आपको विज्ञापन देखने की आवश्यकता होती है। चूंकि विज्ञापन अक्सर आपको किसी वेब साइट पर क्लिक करने की अनुमति देते हैं, इसलिए ऐडवेयर को चलाने के लिए आमतौर पर एक सक्रिय इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता होती है।


अधिकांश एडवेयर उपयोग करने के लिए सुरक्षित है, लेकिन कुछ स्पाइवेयर के रूप में काम कर सकते हैं, आपके हार्ड ड्राइव से आपके बारे में जानकारी इकट्ठा कर सकते हैं, आपके द्वारा देखी जाने वाली वेब साइट्स, या आपके कीस्ट्रोक्स। स्पाइवेयर प्रोग्राम फिर इंटरनेट पर जानकारी दूसरे कंप्यूटर पर भेज सकते हैं। इसलिए सावधान रहें कि आप अपने कंप्यूटर पर कौन सा एडवेयर इंस्टॉल करते हैं। सुनिश्चित करें कि यह एक प्रतिष्ठित कंपनी से है और इसके साथ आने वाले गोपनीयता समझौते को पढ़ें।

एडवेयर वायरस क्या है?

मैलवेयर। ऐडवेयर शब्द का उपयोग अक्सर मैलवेयर (दुर्भावनापूर्ण सॉफ़्टवेयर) के एक रूप का वर्णन करने के लिए किया जाता है, जो कंप्यूटर के उपयोगकर्ता के लिए अवांछित विज्ञापन[ Unsolicited Advertising ] प्रस्तुत करता है। एडवेयर द्वारा निर्मित विज्ञापन कभी-कभी पॉप-अप के रूप में या कभी-कभी “Un-closed Window ” में होते हैं।

Adware in Hindi

एडवेयर का उपयोग किस लिए किया जाता है?

Adware उन प्रोग्रामों को दिया जाता है, जो आपके कंप्यूटर पर विज्ञापन प्रदर्शित करने के लिए डिज़ाइन किए गए होते हैं, जो आपके Search Request को विज्ञापन वेबसाइटों पर पुनर्निर्देशित [ Advertising redirect to websites ]करते हैं और आपके बारे में मार्केटिंग-टाइप डेटा एकत्र करते हैं – उदाहरण के लिए, आपके द्वारा देखी जाने वाली वेबसाइटों के प्रकार – ताकि Customized विज्ञापन हो सकें ।

Ummeed h ki class aapko pasand aa rahi hogi to bane rahiye class me our sikte rahiye to jante h

कितना खतरनाक है एडवेयर?

जबकि एडवेयर आपकी साइबरसिटी के लिए हानिकारक मैलवेयर के खतरे से अधिक उपद्रवपूर्ण[ Fuss full ] है, यदि एडवेयर लेखक आपके ब्राउज़िंग व्यवहार और जानकारी को तीसरे पक्ष को बेचते हैं, तो वे इसका उपयोग आपकी देखने की आदतों के अनुरूप अधिक विज्ञापनों के साथ लक्षित करने के लिए भी कर सकते हैं।

क्या एडवेयर अवैध है? Is Adware Illegal in Hindi 

परिभाषा के अनुसार, एडवेयर एक PUP (Potentially unwanted software) है न कि Malicious programs। इसलिए इसे अवैध क्यों नहीं माना जाता है। … अब, यदि आप एक एडवेयर विकसित करने वाले हैं जो उपयोगकर्ता की सहमति और ज्ञान के बिना स्थापित हो जाता है, तो संभावना है कि यह अवैध हो जाएगा।
यह भी पढ़े :

लोग एडवेयर क्यों बनाते हैं?

यह मूल रूप से दो कारणों से उबलता है; मस्ती के लिए और पैसा कमाने के लिए। स्पाइवेयर, रैनसमवेयर और एडवेयर जैसे मैलवेयर पैसे कमाते हैं। लोगों से जानकारी चुराकर स्पायवेयर, एक ब्राउज़र में विज्ञापनों को इंजेक्ट करके और अपने कंप्यूटर को बंधक बनाकर रैनसमवेयर। … पैसा बनाने के लिए।

आपको कैसे पता चलेगा कि आपके पास एडवेयर है?

7 मैलवेयर संक्रमण के चेतावनी के संकेत

  • कंप्यूटर को धीमा कर दें। एक मैलवेयर संक्रमण का सबसे आम लक्षण एक धीमी गति से चलने वाला कंप्यूटर है। …
  • Blue Screen of Death (BSOD) …
  • स्वचालित रूप से खुलने और बंद होने के कार्यक्रम। …
  • स्टोरेज स्पेस की कमी। …
  • Suspicious Modem और हार्ड ड्राइव Activity  …
  • पॉप-अप, वेबसाइट, टूलबार और अन्य अवांछित कार्यक्रम। …
  • आप स्पैम भेज रहे हैं।

इन साइबर हमलों से हम बचें कैसे?

अगर कोई व्यक्ती मोबाइल या कम्प्युटर पर इंटरनेट का स्तेमाल करता है तब उसे बहुत ही सचेत रहना पड़ेगा, इन साइबर हमलों से बचने के लिए। तो अब हम आपको आगे Cyber Security in Hindi के लिए कुछ सुझाव बता रहे हैं, अगर इन सुझाबो का आप पालन करते हैं, तब आप अपने कीमती Data का या कहे Information को या पैसे को Loss होने से बचा सकते है।

  • तो सबसे पहला सुझाव, आप अपने मोबाइल या कम्प्युटर के ऑपरेटिंग सिस्टम को हमेसा समय समय पर Update करते रहें। जिससे आपके इन devices को और ज्यादा साइबर हमलों से सुरक्षा मिलेगी।
  • अपने कम्प्युटर और मोबाइल या टैब मे एक अच्छे कंपनी का Anti-Virus Software को खरीद कर Install करें। और अगर पहले से ये सॉफ्टवेर आपके कम्प्युटर या मोबाइल मे है तो समय समय पर इनको अपडेट भी करते रहें। जिससे अगर कोई नया वाइरस या malware आपके कम्प्युटर या मोबाइल पर हमला करता है तो इनकी पहचान करके इन्हे वही पर रोका जा सके।
  • आप ईमेल का स्तेमाल करते है। या किसी बैंक की वैबसाइट पर जाकर कोई ट्रैंज़ैक्शन करते हैं, तब वहाँ पर आप Password का उपयोग जरूर करेंगे। तो यहा पर हमारा सुझाब है की आप जो भी पासवर्ड डालें वह बहुत ही मजबूत होना चाहिए। यानि आसानी से पहचानने वाला पासवर्ड नहीं होना चाहिए।
  • ईमेल अटैचमेंट को ठीक से देखकर ही खोलें और अनजान व्यक्ति द्वारा भेजे गए ईमेल अटैचमेंट्स को तो बिलकुल भी ना खोलें। डाउनलोड करने के बाद उन्हें ठीक से किसी antimalware software से स्कैन कर लें।
  • पायरेटेड चीज़ें जैसे फ़िल्में या पेड सॉफ्टवेयर फ्री में डाउनलोड करने के चक्कर में विलकुल भी ना पड़ें यह गलत है और इसकी बजह से आपको और आपके कीमती डाटा को भी खतरा हो सकता हैं।
  • कहीं पर भी आपको फ्री के WI FI के चक्कर मे नहीं पड़ना चाहिए। नहीं तो ये फ्री वाले WIFI, आपके कीमती डाटा को चुरा कर इसका गलत स्तेमाल कर सकते हैं।\
See also  Andhra University Results 2021 UG PG 1st-6th Sem All courses

अंतिम शब्द दोस्तों आजके साइबर सुरक्षा क्या है |

Cyber Security In Hindi इस लेख में हमने साइबर सिक्योरिटी के बारे में जाना अगर आपको Cyber Security के बारे में यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और अगर आपके पास साइबर सुरक्षा से सम्बंधित कोई भी सवाल है तो हमे कमेंट करके जरूर पूछें .

हाल ही में ही Ransomware क्या है (What is Ransomware in Hindi) इस बात को लेकर लोगों में बहुत सनसनी है. ऐसा इसलिए क्यूंकि May 12th 2017 को Internet के इतिहास में सबसे बड़ा cyberattack दुनिया ने देखा. ये बात शायद आपको पता ही होगी की एक Ransomware जिसका नाम है WannaCry और जिसने पुरे दुनिया को थरहरा दिया कुछ ही पलों में. इसका मुख्य टारगेट था Europe और पश्चिम के देश.

WannaCry ने Windows OS की एक vulnerability(दोष) का भरपूर फ़ायदा उठाया. जिसकी मदद से इसने बहुत से computers को अपने चपेट में कर लिया. कुछ ही घंटो में इसने लगभग 200,000 Machines को infect कर चूका था. और तो और बड़े बड़े company जैसे Renault, NHS इससे प्रभावित थे. तो इसीलिए आज मैंने सोच क्यूँ न आप लोगों को पूरी जानकारी दे दी जाये Ransomware क्या है और ये कैसे attack करता है इसके बारे में. तो देरी किस बात की चलिए जानते हैं आकिर Ransomware क्या है और ये इससे कैसे बचा जाये.

RansomeWare क्या है (What is Ransomware in Hindi)

Ransomware एक प्रकार का sophisticated Malware है जिसे की एक खास मकसद से बनाया गया है. यदि यह Malware हमारे computer system में लोड हो जाये तो कुछ ही seconds में ये सारी files और documents को encrypt या लॉक कर देगा और हमें अपने system को चलाने से भी रोकेगा. यहाँ तक की हम अपना documents या कुछ जरूरी चीज़ तक नहीं खोल सकते. और यदि हम खोलना चाहे तब हमें कुछ password type करना होगा जो की उसी Ransomware बनाने वाले के पास मेह्जूद होता है और जिसे पाने के बदले में हमें कुछ पैसे उसे देने होते हैं.

  • Captcha Code क्या है और क्यूँ इस्तमाल किया जाता है?
  • Ethical Hacking क्या है? ये Legal है या Illegal?
  • Computer Virus क्या है और उसे ख़तम करने का तरीका

जैसे की हम बहुत की कम लोग अपना data backup कर के रखते हैं. और यदि ये Ransomware लोड हो जाये तब सारी Documents और Data हमारे Control से चली जाएगी. जिससे हमे बहुत ही नुकशान होगा. और इस प्रकार के चीज़ें हमेशा चलती रहती है क्या पता ये आपके पड़ोस में में चल रहा हो. मुख्यतः ये Spam links या Email के द्वारा ही हमारे computer या Mobile को आता है.

Types of Ransomware in Hindi

अभी के दोर में देखा जाये तो ये मुख्यतः दो प्रकार होते हैं. जिसे की ये Attackers इस्तमाल करते हैं अपना मकसद पूरा करने के लिए.

  1. Encryptors :- ये एक खास प्रकार की Ransomware हैं जिसे Advanced Encryption Algorithms का इस्तमाल करके बनाया गया है. इसे कुछ इस तरह से बनाया गया है की ये कुछ ही समय में आपके मशीन को पूरी तरह से Encrypt कर देगा. और बिना Encryption Key के इसे खोलना लगभग नामुमकिन है. जिसे देने के लिए ये पैसे मांगती है नहीं तो हमेशा के लिए आपका सारा Documents बर्बाद हो जायेगा. उदहारण के तोर पे CryptoLockerLockyCrytpoWall इनमें मुख्य हैं.
  2. Lockers :- इस प्रकार के Ransomware बहुत ही ज्यादा Dangerous हैं जो की किसी user को अपने ही system को चलने से Lock कर देते हैं. ये directly आपके Computer System के Operating System को ही लॉक कर देते हैं. जिससे की आप कोई भी Apps या अन्य Program को access नहीं कर सकते. यहाँ Files Encrypt नहीं होती लेकिन Computer को खोलने के लिए Attackers पैसों की demand करते हैं. उदहारण के तोर पे Police-themed Ransomware..

यहाँ तक की कुछ Lockers के नए version में system के MBR (Master Boot Record) को भी लॉक कर दिया जाता है. आप के जानकारी के लिए बता दूँ की MBR वो section होता है Hard Drive जो Operating System को start होने में मदद करता है. और यदि booting ही न हो तब computer start ही नहीं हो सकता. और इसी दोरान कुछ Message screen में flash होते हैं जिसमे पैसे देने का जिक्र होता है उदहारण के तोर पे Satana और Petya.

इन सभी में Crypto-Ransomware सब से ज्यादा प्रसिद्ध है. एक रिपोर्ट से पता चला है की दुनिया में सबसे ज्यादा लोग इसी Ransomware से सबसे जयादा प्रभावित हुए हैं.

Characteristics of Ransomware in Hindi

  • इसके Encryption को तोडना बहुत ही मुस्किल बात है, इसका मतलब ये बहुत की उन्नत किस्म के Encryption Algorithm इस्तमाल करते हैं जिससे इसको खोलना बहुत ही मुस्किल बात है ऐसा करने से हो सकता है की आपके सारे Data loss होने का भी खतरा है.
  • ये बहुत ही चालाकी से आपके आपके सारे files के नाम बदल सकता है जिससे आपको बिलकुल भी पता नहीं चलेगा की कोन सी data इससे प्रभावित हुई.
  • इसमें किसी भी प्रकार के files को Encrypt करने की क्षमता है जैसे की documents,video, audio और अन्य प्रकार के Files.
  • ये किसी भी files का extension बदल सकता है.
  • कई बार ये एक message या एक image दिखता है जिसमे लिखा होता है की आप पैसे देने के बाद ही अपना कंप्यूटर इस्तमाल कर सकते हैं.
  • ये payment Bitcoin के रूप में लेते हैं ताकि इन्हें कोई track न कर सके.
  • Ransom Payment देने का भी एक time limit होता है जिससे की बिच victim को पैसे देने होते हैं नहीं तो payment amount बढ़ा दिया जाता है.
  • ये बहुत ही advanced Algorithms का इस्तमाल करते हैं.
  • यदि दुसरे Computer System भी infected System से जुड़े हुए हो तब उनको भी infection होने के chances बढ़ जाता है.
See also  Railway NTPC CBT Phase 1-6 Result Latest News

इनकी विसेस्तायें इतने में खत्म नहीं हुई है इनकी लिस्ट दिन ब दिन बढती ही जा रही है.

Ransomware कैसे काम करता है (How Ransomware Works)

यहाँ हम जानेंगे की आकिर ये Ransomware काम कैसे करता हैं.

  • सबसे पहले जिसे target किया गया होता है उसे एक email आता है जिसमे एक malicious लिंक छुपा होता है, और यदि वह user उस लिंक को खोल दे तब एक छोटा सा प्रोग्राम automatically download हो जाता है.
  • दूसरा तरीका है की यदि user कोई malicious website view कर रहा हो और कोई ऐसी चीज़ download करे जिसके बारे में उसे कोई जानकारी न हो तब भी वहां से Ransomware आपके system में प्रबेश कर सकता है.
  • जिस downloader से user उस program को download किया हुआ होता है वह program कुछ इस प्रकार से डिजाईन किया गया होता है की वह एक लिस्ट of Domains or C&C Servers को request भेजता है ताकि कोई advanced Ransomware program download कर सके.
  • इसके बाद contact किये गए C&C Servers respond करते हैं और मांगी गयी चीज़ें भेजते हैं.
  • इसके बाद वह malware अपना काम शुरू कर देता है और पुरे disk को encrypt कर देता है जैसे की personal files, आपके कुछ sensitive information और बहुत कुछ.
  • और screen में एक pop up show करवाते हैं की आपके data को लॉक कर दिया गया है और इसे खोलने के लिए एक Decryption Key की जरुरत है जिसे पैसे के बदले में पाया जा सकते है.

और इसी तरह से ये अपना control आपके system के ऊपर जाहिर करते हैं, और आप कुछ भी नहीं कर सकते.

क्यूँ ये हमेशा से रहेगा

मेरा यह मानना की यह चीज़ Ransomware हमेशा से रहेगा ऐसा इसलिए क्योंकि यह दिन प्रतिदिन खुद को बदल रहा है और इसे ज्यादा ताकतवर बनाया जा रहा है. जो Cyber Criminal खुद को famous करना चाहते हैं अपने मेहनत से ये उनके लिए एक बहुत ही सुनहरा मौका है. और तो और ये एक Business Model बन गया है जिससे की बहुत सारे पैसे कमाया जा सकता है.

  • Ransomware एक service के तरह काम कर रहा है जहाँ इसके creators पैसे कमाते हैं ऐसी प्रोग्राम बनाने के बदले में.
  • जो पैसे के लेन देन हो रही है वो Crypto currency (Bitcoin) से हो रही है जिससे की उनको पकड़ पाना लगभग नामुमकिन ही है.
  • सभी Software Program में कुछ न कुछ कमियाँ तो होती ही है इसलिए ये attackers उन्ही कमियों का इस्तमाल करते हैं और ऐसे program बनाते हैं जिससे की ये अच्छी खासी पैसे कमा सकें.
  • इस प्रकार के attack को काफी हद तक रोका जा सकते है यदि हम थोडा सतर्क हो जाएँ तब लेकिन ज्यादातर लोग malicious website से download करना या कोई Spam email को खोलना नहीं बंद करते और इसलिए ये शायद मुमकिन नहीं है.

इनके मुख्य शिकार कौन है ?

इनके मुक्ये शिकार की बात की जाये तो ये आम तोर से बड़े बड़े institution को target करते हैं ताकि उनसे ज्यादा से ज्यादा पैसे लुट सकें. पहले तो ये आम लोगों को टारगेट किया करते थे लेकिन ज्यादातर लोगों से पैसे लेने में इनको दिक्कत हुई और ज्यादा समय भी व्यतीत हुआ. तभी इन लोगों ने सोचा की क्यूँ न कम समय में ज्यादा कमा लें. ऐसा करने से ये बहुत ही कम समय में बहुत सारा कमा सकते हैं.

बड़े बड़े Government Agency को टारगेट करने से इनको बहुत फ़ायदा है जैसे की इन्हें उन database से बहुत सारे लोगों की जानकारी हासिल हो जाएगी और तो और बहुत सी confidential Information भी मिल जाएगी.

और ये आसान क्यूँ है :

  • Government Agency बहुत ही पुराने और outdated software का इस्तमाल करते हैं.
  • ज्यादातर control किसी ऐसे के पास होता है जिसे Internet Security के बारे में कुछ भी पता नहीं होता.
  • यहाँ staffs भी ज्यादा Cyber Attacks के बारे में trained नहीं होती. और यहाँ इन्हें आसानी से loopholes मिल जाते हैं.

नोट: Ransomware Platform independent होते हैं जिसका मतलब है की ये किसी भी system को attack कर सकते हैं जैसे किसी Computer, Mobile, tablet या कोई Server.

Ransomware फैलने के तरीके

यहाँ हम जानेंगे की की कैसे बड़ी आसानी से ये attackers इन malwares को हमारे system में डाल देते हैं.

  • Spam Emails जिसमे की मुख्यतः कुछ Attachment होते हैं जिसे खोलने से ये program download हो जाते हैं.
  • Vulnerable Software को इस्तमाल करने से जिनका कोई Signature नहीं होता.
  • Internet में ऐसी Malicious Websites को visit करने से जो की पहले से ही infected हों.
  • Malvertising Campaigns
  • Unauthorized Apps download करने से mobile में ये प्रबेश कर लेते हैं.
  • Self Propagation इसका मतलब है की यदि कोई computer पहले से ही infected हो तब यदि कोई दूसरा system या कोई नेटवर्क भी इसके संपर्क में आएगा तो वो भी infect हो सकता है.

यह भी पढ़े:  BlueBorne Bluetooth Attack क्या है और कैसे रहे सुरक्षित?

कैसे बचें Ransomware से कुछ आसान तरीके (How to Prevent Ransomware Attacks)

1. अपने Personal Computer में

  • अपने महत्वपूर्ण data को PC में न रखें
  • यथा संभव अपने data की backup रखें online और offline दोनों में
  • Online Backup को हमेशा turned on by default न करें, जब इस्तमाल करें तभी इसे on करें. दिन में एक बार अपने data को sync कर दें.
  • हमेशा अपने software को update रखें, यहाँ तक की latest Security Updates का इस्तमाल करें.
  • Outdated softwares और plugins का इस्तमाल न करें.
  • Ad-Blocker का इस्तमाल करें अनचाही Malicious Ads से बचने के लिए.

2. Online Behavior

  • किसी भी अपरिचित sender से आया हुआ email open न करें.
  • Spam Emails के attachment download न करें.
  • Malicious Website के links को click न करें.
  • हमेशा अच्छे AntiVirus Program का इस्तमाल करें और उसे समय समय पे update करें.

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को Ransomware क्या है (What is Ransomware in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को इस नए Cyber Threat के बारे में समज आ गया होगा. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की आप हमेशा सुरक्षित रहें और एक बात हमेशा ये याद रखें की सबसे अच्छी protection of data है Backup. अपने data को backup करना कभी न भूलें.

मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने readers या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं. मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा. आपको यह लेख Ransomware क्या है (What is Ransomware in Hindi) कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले.

Ummeed hai aapko hamari iss class mein jo bhi bataya gaya h, wo poori tarah se samjh mein aaya hoga…. Yadi haan toh hamari aage aane wali classes ko bhi join kare Aur apna feed…..Dhanyawaad.

“ मेरा देश बदल रहा है आगे बढ़ रहा है ”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *